इंसानियत की मिसाल, गंभीर ने लांघी सरहद, भारत में होगा पाक की बच्ची का इलाज

नई दिल्ली: क्रिकेटे से सांसद बने गौतम गंभीर अपने बेबाक बयानों के लिए जाने जाते हैं। कोई देश पर उंगली उठाए वो बिल्कुल भी बर्दास्त नहीं करते हैं। मीडिया के सामने भी विरोधियों को मुंहतोड़ जवाब देने से नहीं डरते हैं। इसके अलावा गंभीर इंसानियत को लेकर हर वक्त मिसाल पेश करते हैं। कभी शहीदों के बच्चों की पढ़ाई या फिर कुछ और मदद के लिए उनके हाथ हर वक्त तैयार रहते हैं। इसके लिए वह एक फाउंडेशन भी चलता हैं। एक बार फिर अपनी इसी कार्यशैली के लिए वह सुर्खियों में हैं। गंभीर ने इंसानियत का परिचय देने के लिए सरहद भी लांघ दी।

दरअसल, गौतम गंभीर ने दिल की बीमारी से पीडित सात साल की एक पाकिस्तानी बच्ची को भारत में इलाज कराने के लिए वीजा दिलाने में मदद की है। गंभीर ने विदेश मंत्रालय को पत्र लिखा और मदद का अनुरोध किया था। जवाब में विदेशमंत्री एस जयशंकर में गौतम गंभीर से कहा कि उन्होंने इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग को उमैयमा अली एवं उसके अभिभावकों को जरूरी वीजा देने का निर्देश दिया है। इस बारे में गंभीर ने ‘पीटीआई-भाषा’ से बातचीत में कहा कि उन्हें बच्ची की बीमारी के बारे में फोन पर पता चला थछा। इस बारे में उन्हें पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी मोहम्मद यूसुफ (पहले यूसुफ योहन्ना) ने बताया था। इसके बाद उन्होंने एक अक्टूबर को बच्ची की मदद के लिए विदेश मंत्रालय को पत्र लिखा।

विदेशमंत्री जयशंकर ने नौ अक्टूबर को वीजा जारी करने के निर्देश दिए थे। इस बारे में गंभीर ने ट्विटर पर पत्र भी साझा किया है। पूर्वी दिल्ली से सांसद गंभीर ने कविता के रूप यह पोस्ट लिखा। उन्होंने लिखा कि’उस पार से एक नन्हे दिल ने दस्तक दी, इस पार दिल ने सब सरहदें मिटा दी। उन नन्हे कदमों के साथ बहती हुई मीठी हवा भी आई है,कभी-कभी ऐसा भी लगता है जैसे बेटी घर आई है।’ गंभीर ने इसके लिए विदेशमंत्री एस जयशंकर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का धन्यवाद दिया। उमैयमा अली के मामा अली नवाज ने पाकिस्तान से गंभीर का धन्यवाद किया।

बता दें कि इस बच्ची का साल 2012 में नोएडा के एक निजी अस्पताल में बच्ची का करीब सात-आठ महीने तक इलाज चला था। डॉक्टरों ने ओपन हार्ट सर्जरी की सलाह दी थी जिसके बाद परिवार उसे वापस पाकिस्तान ले गया था। नवाज ने कहा कि उनका परिवार तब से डॉक्टरों के संपर्क में है और सर्जरी के लिए वीजा आवेदन कर रहा था। इस बारे में गंभीर ने जानकारी दी।

उत्तराखण्ड:दिनदहाड़े दुकान में युवती की हत्या से सहमा क्षेत्र, मालिक को किया था फोन

विजय हजारे ट्रॉफी से उत्तराखण्ड बाहर, चंडीगढ़ ने दो विकेट से हराया

हल्द्वानी के लिए यादगार पल, सौरभ रावत ने संभाली उत्तराखण्ड क्रिकेट टीम की कमान

हल्द्वानीः रेलवे ई टिकट की कालाबाजारी करने वाले दो युवक गिरफ्तार