गैस सिलेंडर पर फैसला, उत्तराखंड में भी होगा लागू, जरूर जानें और शेयर करें

नई दिल्ली: पूरे देश को कोरोना वायरस से बचाने के लिए भारत में 14 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन है। लॉकडाउन के बाद से ही लोगों को गैस सिलिंडर को लेकर परेशानी बढ़ गई थी। कुछ लोगों के मन में रसोई गैस की सप्लाई को लेकर सवाल हैं। लॉकडाउन के बाद से बड़ी संख्या में लोग घबराहट में गैस सिलिंडर की बुकिंग करवा रहे हैं।

सरकारी तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC) ने लोगों से ‘पैनिक बुकिंग’ नहीं कराने की अपील की है। घरों में एक भरा सिलेंडर होने के बावजूद दूसरा भी तुरंत बुकिंग कर रहे थे। इससे तेल कंपनियों को भी एलपीजी की सप्लाई में परेशानी होने लगी थी। इसे देखते हुए अब कंपनियो ने निर्णय लिया है कि बुकिंग के 15 दिन बाद ही कस्टमर को डिलीवरी दी जाएगी। दरअसल लाकडाउन के चलते जिन ग्राहकों के घर में पहले से एक सिलेंडर रखा हुआ है वह तुरंत दूसरा सिलेंडर भी मंगवा रहे थे। इससे सप्लाई तो प्रभावित हो रही थी।

साथ ही जरूरतमंदों को एलपीजी सिलेंडर उपलब्ध नहीं हो पा रहे थे। ऐसी स्थिति में तेल कंपनियों ने निर्णय लिया है कि अब बुकिंग करने के बाद दूसरे सिलेंडर की डिलीवरी अगले 15 दिन बाद ही दी जाएगी। इंडियन ऑयल के अध्यक्ष संजीव सिंह ने एक वीडियो संदेश में आश्वस्त किया कि देश में रसोई गैस की कोई कमी नहीं है. उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम उत्पादों की आपूर्ति पूरे देश में सुचारू है. पेट्रोल, डीजल या रसोई गैस को लेकर कोई किल्लत या कोई दिक्कत नहीं है. विशेषकर रसोई गैस के लिए आश्वस्त करना चाहता हूं कि आप लोग निश्चिंत रहें. एलपीजी की आपूर्ति सुचारू रूप से चल रही है और चलती रहेगी. ग्राहकों से निवेदन है कि पैनिक बुकिंग न करें. इससे सिस्टम पर अनावश्यक दबाव पड़ता है. हमने अब यह व्यवस्था शुरू की है कि कम से कम 15 दिन के अंतर से पहले ग्राहक रिफिल बुकिंग नहीं करा सकेंगे.

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now