अब संक्रमितों को 5 दिन इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में रहना जरूरी नहीं

अब संक्रमितों को 5 दिन इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में रहना जरूरी नहीं

नई दिल्ली: एक बड़ी खबर देश की राजधानी दिल्ली से सामने आ रही है। अब दिल्ली में अब संक्रमितों को 5 दिन इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में रहना जरूरी नहीं होगा। उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कोरोना पॉजिटिव मरीजों को 5 दिन के अनिवार्य इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में रखने का अपना पुराना फैसला वापस ले लिया है। यह जानकारी उन्होंने ट्विटर साझा की।

बता दें कि कुछ दिन पहले उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कोरोना संक्रमितों को होम क्वारंटाइन करने पर रोक लगा दी थी। उपराज्यपाल ने आदेश जारी किया था कि दिल्ली में जो भी संक्रमित मिलेगा, उसे पांच दिन अनिवार्य इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में रहना होगा। उनके इस फैसले के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके बीच तनातनी शुरू हो गई थी।

उपराज्यपाल के फैसले के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि होम आइसोलेशन खत्म करने पर समस्याएं होंगी। सरकारी अस्पतालों और अन्य सरकारी इंतजामों के बावजूद दिल्ली में केवल 6 हजार बेड उपलब्ध हैं। जबकि दिल्ली में अभी होम आइसोलेशन में 10 हजार लोग रह रहे हैं। सभी को इंस्टीट्यूशनल क्वांरटाइन करना संभव नहीं है।

राजधानी दिल्ली में भी इसके नए मामले सामने आने का हर दिन नया रिकॉर्ड बन रहा है। शनिवार को जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में यहां 3630 नए मरीज सामने आए जिसके बाद संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 56746 हो गया।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now