राष्ट्रपति से सम्मानित छात्रा को अगवा करके किया गैंगरेप, मां बोली, मोदी जी ऐसे बढ़ेगी बेटी…

तीन में से एक आरोपी है फौजी

520

नई दिल्ली: युवतियों के साथ देश में अपराधिक घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही है। रोजाना सरकार महिला सुरक्षा के मुद्दो पर जनता को सहानभूमि देती है लेकिन दरिंदे देश की बच्चियों के साथ नापाक हरकत को अंजाम देने से नहीं डरते हैं। हरियाणा से आ रही खबर के अनुसार, तीन युवकों ने एक लड़की को जबरन कार पर बैठाया और खेत में लेकर उसके साथ गैंगरेप किया। युवती ने घर पर पहुंचकर इस बारे में परिजनों को बताया।

पीड़ित छात्रा कॉलेज में पढ़ती है और वह सीबीएसई टॉपर रह चुकी है। 19 साल की युवती को उसकी प्रतिभा के लिए राष्ट्रपति सम्मानित भी कर चुके हैं। खबरों के मुताबिक, छात्रा सुबह घर से कोंचिंग के लिए निकली थी कि कनीना बस अड्डे के समीप उसी के गांव के रहने वाली तीन युवक पंकज, मनीष और नीसु मिले। जिन्होंने छात्रा को अपनी गाड़ी में लिफ्ट देकर नशीला पानी पीने को दिया।

क्रिकेट में हल्द्वानी की बेटियों ने दिखाया हुनर, उत्तराखण्ड अंडर-19 टीम में शामिल

आरोपी पंकज, मनीष और नीसु छात्रा को अगवा कर महेन्द्रगढ़ जिले की सीमा से दूर झज्जर जिले की सीमा के खेतों में बने एक कुएं पर ले गए, जहां और भी लोग मौजूद थे और नशे की हालत में सभी ने उससे गैंगरेप किया। वापस शाम करीब 4 बजे वही कनीना बस अड्डे पर बेसुध हालत में फेंककर भाग गए।

पीड़िता की मां ने कहा कि पीएम मोदी कहते बेटी पढ़ाओ, बेटी बढ़ाओ, लेकिन मैं पूछती हूं कैसे ? उन्होंने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है। महिला थाना पुलिस ने जीरो एफआईआर दर्ज कर मामला कनीना थाना ट्रांसफर कर दिया है। मामले के संबंध में कनीना थाना प्रभारी अनिरुद्ध सिंह ने बताया कि जीरो एफआईआर के आधार पर जांच शुरू कर दी है। जल्द ही मामले का पटाक्षेप किया जाएगा। मामले में हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने सख्त रुख अपनाया है। सीएम खट्टर ने कहा है कि कानून अपना काम करेगा। जो भी इस मामले में दोषी हो गा उसे सजा मिलेगी।