फिल्म इंटरवल में पत्नी ने कॉल्ड ड्रिंक पीने से किया इंकार, पति ने मांगा तलाक

नई दिल्ली: पत्नी के कॉल्ड ड्रिंक नहीं पीने पर पति ने कोर्ट में तलाक की अर्जी डाल दी। इस मामले ने पूरे देश में सुर्खियां बटोर रखी हैं। मामला 14 साल पुराना है जो एक बार फिर कोर्ट पहुंचा है। पति ने अपनी पत्नी पर कई आरोप भी लगाए हैं। वहीं पति की अर्जी पर हाईकोर्ट ने कोर्ट ने इस आधार को लेकर दाखिल की गई तलाक की अर्जी को हाईकोर्ट कैसे स्वीकार कर सकता है और पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने पति की दाखिल याचिका को खारिज कर दिया।

जन्म के बाद देवभूमि का सबसे अलग मुख्यमंत्री, कोई नहीं कर सका बराबरी, जानें

पति ने अपनी अर्जी में कहा है कि 2004 में उसकी शादी हुई थी। पत्नी ने कभी उसे अपने पास आने नहीं दिया। तीन महीने साथ रहने के बाद वो उसे छोड़कर चले गई। इसके बाद पति ने तलाक के लिए 2006 में याचिका दाखिल की थी। इसे 2009 में निचली कोर्ट ने खारिज कर दिया। अब हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करते हुए तलाक की मांग की गई है।

नहीं रहे उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी, दिल्ली के मैक्स में ली अंतिम सांस

तलाक के लिए आधार बताते हुए पति ने कहा कि बारात को पूरा खाना नहीं परोसा गया, वहीं पत्नी  मां-बाप का ख्याल नहीं रखती थी। चाय बनाने और संबंध बनाने से इनकार करती है। इसके साथ ही एक चौकाने वाली बात भी कही। उसने कहा कि वो मै हूं ना फिल्म देखने गया था और फिल्म के दौरान हुए इंटरवल में पत्नी ने कोल्ड ड्रिंक लेने से मना कर दिया।

हल्द्वानी: रेडियो जॉकी बनकर डीपीएस लामाचौड़ के बच्चों ने दिया ऐसा संदेश, जानकर आप भी देंगे शाबाशी

वहीं पति के आरोपो को नकारते हुए पत्नी ने कहा कि उसने उसे कभी घर वापस लाने की कोशिश नहीं की। इस मामले में हाईकोर्ट ने कहा कि भले ही दोनों 14 सालों से अलग है लेकिन जिस आधार पर तलाक मांगा जा रहा है वो नहीं दिया जा सकता है।  इसके लिए कानून द्वारा तय मानकों को पूरा किया जाना जरूरी है जो इस मामले में नहीं हुआ। ऐसे में हाईकोर्ट ने इन आधारों को अत्याचार न मानते हुए तलाक की पति द्वारा दाखिल की गई याचिका को खारिज कर दिया।