भाजपा को कश्मीर में कौन लाया, इस पर भिड़ पड़े उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती !

max face clinic haldwani

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में धारा 370 और आर्टिकल 35A हटने के बाद हालात सामान्य हो रहे हैं। ईद को शांति पूर्ण बनाने के लिए प्रशासन और शासन ने सुरक्षा का घेरा दिया हुआ है। फिलहाल एक विपक्ष है जो इस सरकार के इस फैसले को गलत साबित करने की कोशिशों में जुटा हुआ है। कश्मीर में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए वहां के कई नेताओं को नजऱबंद किया हुआ है। अब खबर के ये सामने आने आ रही है कि नजरबंद किए गए जम्मू कश्मीर के दो पूर्व मुख्यमंत्री आपस में भिड़ गए। यह दो नेता कोई और नहीं बल्कि उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) और महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti ) है। दोनों को हरि निवास में रखा गया था लेकिन दो यहां पर इस बात को लेकर भिड़ गए कि भाजपा को जम्मू-कश्मीर में कौन लाया। झगड़ा इतना बढ़ गया कि दोनों को अलग-अलग जगह पर शिफ्ट करना पड़ा।  

यह भी पढ़ें: इजरायली युवक-युवती ने फैलाई अफवाह, दो घंटे तक दौड़ी भोटिया पड़ाव पुलिस

बता दें कि हरि निवास में उमर अब्दुल्ला ग्राउंड फ्लोर में रह रहे थे, जबकि महबूबा पहली मंजिल पर थीं। फिलहाल झगड़े के बाद अब्दुल्ला को फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के गेस्ट हाउस में शिफ्ट कर दिया गया है, जबकि महबूबा अभी भी हरि निवास में है। ये वहीं जगह है जिसे पहले मुख्यमंत्री आवास के तौर पर बनाया गया था और गुलाम नबी आजाद मुख्यमंत्री यहां रहे भी थे। लेकिन बाद में यहां कोई नहीं रहा इसके बाद इसे गेस्ट हाउस में बदल दिया गया।

यह भी पढ़ें:नदी में डूबने से बिंदुखत्ता निवासी छात्र की मौत,पेट्रोलियम यूनिवर्सिटी का था छात्र

द टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, झगड़े का मुख्य कारण भाजपा की जम्मू-कश्मीर में एंट्री रही। दोनों एक दूसरे पर यही आरोप लगाते रहे। एक अधिकारी के मुताबिक उमर अब्दुल्ला ने महबूबा पर चिल्लाते हुए कहा कि उनके पिता मुफ्ती मोहम्मद ने 2015 से 2018 के बीच बीजेपी से साठ-गांठ किया था। उमर का पलटवार करते हुए पीडीपी की प्रमुख महबूबा ने उमर अब्दुल्ला से कहा कि उनके पिता फारूख अब्दुल्ला और अटल बिहारी वाजपेयी के बीच गठबंधन था। उन्होंने ये भी कहा कि तुम वाजपेयी की सरकार में एक जूनियर मिनिस्टर थे। इतना ही नहीं महबूबा ने उमर के दादा शेख अब्दुल्ला को भी मौजूदा हालात के लिए ज़िम्मेदार ठहराया।