घाव सही कराने हॉस्पिटल पहुंचे 70 वर्षीय मरीज का डॉक्टरों ने काट दिया पैर, FIR दर्ज

नई दिल्ली: पिंक सिटी के नाम से मशहूर जयपुर से एक चौकाने वाला मामला सामने आ रहा है। बड़े हॉस्पिटल लोग अच्छे इलाज के लिए जाते है लेकिन इस हॉस्पिटल में कुछ ऐसा हुआ जिसे सुन लोगों के पैरों तले जमीन ही खिसक गई। पैर की अंगुली में हुए घाव के इलाज के लिए आए व्यक्ति का डॉक्टरों ने पैर ही काट दिया।

जानकारी के मुताबिक राजस्थान के जयसिंहपुरा खोर गांव के रहने वाले 70 वर्षीय राजाराम मीणा अपने दाहिने पैर की अंगुली में हुए घाव का इलाज कराने  जयपुर के एक मल्टीस्पेशलिस्ट हॉस्पिटल में पहुंचे थे। उन्हें दर्द भी हो रहा था। डॉक्टरों ने  दाहिने पैर का इलाज कर उसमें मरहम-पट्टी कर दी। इसके बाद उनके बाएं पैर में भी दर्द होने लगा। डॉक्टरों ने इसे सामान्य दर्द बताते हुए मरीज राजाराम को घर भेज दिया। घर पहुंचने के बाद पीडित का दर्द और बढ़ने लगा वो फिर इलाज के लिए हॉस्पिटल पहुंचे तो डॉक्टरों ने उनका बायां पैर ही काट दिया।

इस बारे में पीडित ने पुलिस में केस दर्ज कराया है जिसमें उन्होंने हॉस्पिटल पर लापरवाही करने का आरोप लगाया है। इसके अलावा रिपोर्ट में पीडित मरीज ने हॉस्पिटल पर दो लाख रुपए लेने का भी आरोह लगाया है।अस्पताल प्रशासन ने आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि मरीज राजाराम पेरिफेरियल बीमारी से ग्रसित थे। हम रोगी के प्रति पूरी सहानुभूति रखते हैं।