1 सितंबर से स्कूल कॉलेज खोलने की तैयारी में सरकार, जानिए, क्या है प्लान?

चरणबद्ध तरीके से खुलेंगे स्कूल अगस्त के आखिर तक आ सकती है गाइडलाइंस

देश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। गुरुवार को भारत ने कोरोना संक्रमण के मामले में 20 लाख का आंकड़ा पार कर लिया था। लेकिन इन सबके बीच खबर है कि सरकार 1 सितंबर से स्कूल कॉलेज खोलने की तैयारी में है। केंद्र सरकार ने चरणबद्ध तरीके से प्लान बनाया है।

जिसमें सितंबर 1 से नवंबर 14 तक अलग-अलग तरह के नियम लागू होंगे। गाइड लाइन कुछ इस तरह होंगे कि पहले 15 दिनों में कक्षा दसवीं से बारहवीं तक के बच्चों को ही स्कूल आने दिया जाएगा। ऐसी भी योजना है कि अगर किसी कक्षा में 4 सेक्शन हैं तो 3 दिन दो सेक्शन और 3 दिन दूसरे दो सेक्शन स्कूल जा सकेंगे। स्कूलों को शिफ्ट में भी खोला जा सकता है। जैसे 8:00 से 11:00 तक एक शिफ्ट और 12:00 बजे से 3:00 बजे तक एक शिफ्टऔर इन दोनों शिफ्ट के बीच में सैनिटाइजेशन का काम होगा।

यह भी पढ़ें: कोरोनिल के लिये पतंजलि पर 10 लाख का जुर्माना, कोर्ट ने कहा लोगों को डराना बंद करें

सिर्फ 13% स्टाफ और बच्चों के साथ खोले जाएंगे स्कूल

स्कूल कॉलेज को अधिक से अधिक 5 से 6 घंटे तक ही खोला जा सकता है। गाइड लाइन के अनुसार स्कूलों को सिर्फ 33% टीचर और बच्चों के साथ ही खोला जाए। एक दिन पहले ही डब्ल्यूएचओ (WHO) की चीफ साइंटिस्ट, सौम्या स्वामीनाथन ने बयान दिया था कि स्कूलों को खुलना ही चाहिए लेकिन सख्त सोशल डिस्टेंसिंग के साथ। बच्चों को बहुत समय तक पढ़ाई से दूर रखा जाए तो उनके दिमाग में बुरा प्रभाव पड़ता है और उनके सीखने की काबिलियत कमजोर पड़ती है। बच्चों को स्कूल से दूर रखने के और भी सामाजिक दुष्प्रभाव है जैसे शोषण बाल विवाह और हिंसा की घटनाएं।

सरकार की योजना है कि कक्षा 6 से 12 तक के बच्चों को विद्यालय आने दिया जाए और प्राइमरी स्तर पर कक्षाएं ऑनलाइन ही चलाई जाएं। इस मामले को लेकर फाइनल गाइडलाइन और देश में फाइनल अनलॉक की गाइडलाइन 17 अगस्त महीने के अंत में आने की संभावना है।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now