जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा नजरबंद किए गए फारूक अब्दुल्ला

नई दिल्ली: जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस ने बुधवार को बड़ी कार्रवाई की है। पुलिस द्वारा नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष डॉ. फारूक अब्दुल्ला को नजरबंद किया गया है। वहीं उनकी बेटी साफ‍िया को न्‍यायिक हिरासत में भेजा गया है। बता दें कि कल जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के विरोध में फारूक अब्दुल्ला की बहन और उनकी बेटी समेत एक दर्जन से ज्यादा महिलाओं को पुलिस ने एहतियातन हिरासत में लिया था। 

राज्‍य में पाबंदियां लगने के बाद लालचौक में लगभग 72 दिन बाद यह पहला प्रदर्शन था। प्रदर्शनकारी महिलाओं में फारूक अब्दुल्ला की बहन सुरैया अब्दुल्ला, डॉ. फारूक अब्दुल्ला की बेटी साफिया अब्दुल्ला और जम्मू कश्मीर हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस बशीर अहमद खान की पत्नी हव्वा बशीर शामिल थीं। सभी जम्मू कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम को रद् करने, राज्य में अनुच्छेद-370 बहाल करने और जेलों में बंद सियासी हस्तियों की तत्काल रिहाई की मांग कर रही थीं। 

प्रदर्शन कर रहे लोगों ने हाथ में पट्टी बांधी हुई थी और विरोध करने के लिए प्लेकार्ड उठाए थे। प्रेस एनक्लेव से महिलाओं ने अपना विरोध शुरू किया और नारेबाजी करते हुए लाल चौक स्थित घंटाघर के लिए रवाना हुई थीं। वहां पहले से ही मौजूदा महिला पुलिस और सीआरपीएफ कर्मियों के एक दस्ते ने उन्हें प्रेस एनक्लेव के बाहर रोक लिया, इसके बाद महिलाओं ने वहीं धरने पर बैठने की कोशिश की। हालांकि, सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें इसकी भी अनुमति नहीं दी और उन्हें वहां से जाने के निर्देश दिए। महिलाओं के अडि़यल रुख को देखते हुए उन्‍हें हिरासत में ले लिया गया था।