चलती कार में 15 साल की किशोरी के साथ दरिंदगी, पुलिस पर लगा आरोपियों को बचाने का आरोप

नई दिल्ली: सोशल मीडिया में हुई दोस्ती के नाम पर बनाएं गए रिश्ते का अंजाम गैंगरेप पर आकर खत्म हुआ। युवक ने 14 साल की नाबालिग लड़की से फेसबुक के जरिए दोस्ती की और फिर उसके साथ कार में गैंगरेप को अंजाम दिया। मामला हरियाणा के यमुनानगर का है। पीडिता की मां द्वारा शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी युवकों के खिलाफ गैंगरेप, पोक्सो एक्ट व जातिसूचक शब्द बोलने के आरोप में केस दर्जकर कार्रवाई शुरू कर दी है।

खबर के मुताबिक मामला 26 जुलाई का है। फेसबुक पर दोस्ती करने के बाद आरोपी युवक ने युवती को मिलने के लिए बुलाया। उसके साथ उसका दोस्त भी था। दोनों ने बहला फुसलाकर लड़की को कार में बैठा लिया और शहर के बाहर ले गए। वहां दोनों ने युवती के साथ कुर्कम किया। आरोपियों ने कार के शीशे बंद कर गानों की आवाज तेज़ कर रखी थी,जिस कारण लड़की की चीख बाहर नहीं जा सकती। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपियों ने उसे शहर के एक पार्क के पास छोड़कर फरार हो गए। पीड़िता ने परिजनों को आपबीती सुनाई।

शाही वेन्यू छोड़ उत्तराखण्ड के इस पवित्र स्थल पर होगी अंबानी के बेटे की शादी !

पीडिता की मां ने पुलिस को बताया कि  उसकी 15 वर्षीय लड़की की शास्त्री कॉलोनी निवासी प्रवीन उर्फ पिनू के साथ जान पहचान थी। 26 जुलाई को उसकी लड़की किसी काम से कॉलोनी में गई थी। आरोप है कि इसी दौरान प्रवीण उर्फ पिनू अपने एक अन्य दोस्त के साथ कार में सवार होकर आया। उसने उसे अपनी कार में बैठाया और कार में लालद्वारा मंदिर के नजदीक ले गए। जहां प्रवीण ने जबरन उसकी बेटी के साथ दुष्कर्म किया। शिकायत के बाद पुलिस ने लड़की का मेडिकल करवाया। जिसमें उसके साथ दुष्कर्म होने की पुष्टि हुई है।

एक आईडिया जो बदल रहा है नैनीताल की महिलाओं की ज़िंदगी… कर्तव्य कर्मा संस्था का अनूठा सोशल स्टार्ट-अप

पीड़िता के परिजनों ने पुलिस पर आरोपियों को बचाने का आरोप लगाया है। पुलिस ने प्रवीण को नामजद किया है, जबकि उसके साथी को अज्ञात दिखाया है। परिजनों का कहना है कि जब पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है तो उसके साथी का नाम तो उसे पता ही होगा। आरोपी उससे उसका नाम उगलवा सकती है। लेकिन पुलिस आरोपी को बचाने का प्रयास कर रही है।  वहीं पुलिस ने बताया कि आरोपी दोनों युवकों पर गैंगरेप, पोक्सो एक्ट व जाति सूचक शब्द बोलने के आरोप में केस दर्ज किया गया है। एक आरोपी को गिरफ्तार कर दो दिन के रिमांड पर लिया गया है। रिमांड में आरोपी से उसके साथी के बारे में पूछताछ की जाएगी।