लापरवाही: जैसै ही विमान ने भरी उड़ान यात्रियों के कान और नाक से आने लगा खून

नई दिल्ली: विमान में सफर करने के लिए यात्री कई गुना ज्यादा पैसे देते हैं। यात्रा को सुखद बनाने के लिए यात्री इतना खर्चा करते हैं। गुरुवार को  मुंबई से जयपुर के बीच चलने वाले जेट एयरवेज के विमान में चौकाने वाली घटना सामने आ रही है। यात्रियों की नाक और कान से खून निकलने के काऱ विमान वापस मुंबई लौट गया है। क्रू मेंबर की लापरवाही के कारण कान और नाक से खून निकलने जैसी घटना हुई।

Related image

डिप्टी डायरेक्टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन ललित गुप्ता ने बताया कि क्रू मेंबर केबिन के प्रेशर को बनाए रखने वाले बटन को दबाना भूल गया था। जिसकी वजह से खून निकलने और सर दर्द की शिकायतें आई है। इस विमान के अंदर 166 यात्री और 5 क्रू मेंबर्स थे जो सामान्य रूप से मुंबई आ गए। सभी यात्रियों को सुरक्षित उतार दिया गया है। जिन लोगों ने कान और नाक से खून बहने की शिकायत की उन्हें इलाज दिया जा रहा है। जेट एयरवेज ने मामले को गंभीरता से लेते हुए फ्लाइट के कॉकपिट क्रू को सूचीबद्ध ड्यूटी से हटा दिया गया है और जांच जारी है। इस विमान से सवार कर रहे सभी यात्रियों के लिए वैकल्पिक विमान से जयपुर भेजने की  व्यवस्था की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक विमान ने उड़ान भरी एसी काम करना बंद कर दिया। उसके बाद एयर प्रेशर सिस्टम भी बंद हो गया और ऑक्सीजन मास्क बाहर आ गया। इसके कुछ यात्रियों ने नाक में खून बहने और सिरदर्द की शिकायत की। करीब एक घंटे बाद वापस मुंबई विमान लौट आया और यात्रियों को करने की बात कही गई। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। इस घटना के बाद डीजीसीए ने कहा कि क्रू को सूचीबद्ध ड्यूटी से हटा दिया गया है और एयरक्राफिट एक्सीडेंटल इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो (एएआईबी) ने पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, 166 में से 30 पैसेंजर्स ने कान और नाक से खून निकलने और सिरदर्द की शिकायत की है। उन सभी का इलाज मुंबई के एयरपोर्ट पर किया जा रहा है।