50 किलो से ज्यादा कूड़े पर रोक , खुद बनायें रिसाइकल प्लांट

हल्द्वानीः हल्द्वानी शहर इस समय सबसे ज्यादा कूड़े के ढेर से परेशान दिख रहा है। शहर के हर कोने में कूड़े का भंडार देखा जा सकता है। सबसे बड़ी परेशानी यह है कि कुछ लोग कूड़े को नाले में भी फैंक देते है। अधिक वर्षा के कारण कूड़े से नाले चोक हो जाते है। जिसके बाद नाले का दूषित पानी रोड में फैल कर नई बीमारियों को न्योता देता है। पर अब इस बार हल्द्वानी नगर निगम कुछ हरकत में है। इस बार नगर निगम ने कूड़े की जड़ पर वार किया है। नगर निगम ने इस बार शख्त कारवाई करते हुऐ होटल , मॉल , अस्पताल ,रेंस्टोंरेट को निर्देश देते हुए कहा है कि अब नगर निगम केवल 50 किलो कूड़ा ही लेगा। अगर नगर निगम की गाड़ी में 50 किलों से ज्यादा कूड़ा डाला गया तो सभी व्यवसायिक संस्थानों से जुर्माना वसूला जायेगा। नगर निगम ने यह बात साफ कर दी है कि अगर 50 किलों से ज्यादा कूड़ा होता है तो व्यवसायिक संस्था को अपने निजी कूड़ा निस्तारण के लिए रिसाइकल प्लांट लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। दरअसल व्यवसायिक संस्थाओं द्वारा हर रोज लगभग 400 से 500 किलो तक का कचरा कूड़ा-गाड़ी में डाला जा रहा है। इस से कूड़ा गाड़ी को डोर-टू-डोर कूड़ा उठाने में काफी परेशानी हो रही है। इन करणों से संस्थाओं को रिसाइकल प्लांट लगवाने के निर्देश दे दिये है ।यह नियम पूरे नैनिताल जिलें में चलाया जायेगा।

नगर निगम के स्वास्थ्य अनुभाग की टीम कूड़ा उत्पन्न करने वाले संस्थानों का सर्वे करेगी। नगर आयुक्त सीएस मर्तोलिया वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राहुल लसपाल को इसके निर्देश दे दिए हैं। नगर निगम मूल्यांकन करेगा कि कूड़े को सही तरीके से नष्ट किया जा रहा है या नहीं, निगम प्रशासन इसकी समय-समय पर निगरानी करेगा। कूड़े को खुले में फेंकने वाले प्रतिष्ठान पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। कई लोग रात्रि में अपने वाहनों से कूड़े को ट्रंचिंग ग्राउंड भिजवाते हैं, ऐसे लोगों पर भी नजर रहेगी।