पास के बिना भारत और नेपाल के बीच आवाजाही की अनुमति नहीं, प्रशासन ने तैयार किया प्लान

पिथौरागढ़: कोरोना संक्रमण के चलते लगाए गए लॉकडाउन के बाद अनलॉक में भारत नेपाल आवागमन के लिए इसे जोड़ने वाले झूलापुलों से अब बिना पास के एक-दूसरे देशों में आवाजाही नहीं हो सकेगी। जिसके लिए दोनों देशों में स्थानीय प्रशासन स्तर पर पास बनाकर जारी किए जा रहे हैं। ज्ञात हो कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए भारत-नेपाल को जोड़ने वाले झूलापुल मार्च में बंद कर दिए गए थे। तब से भारत-नेपाल के बीच आवागमन सामान्य नहीं हो पाया है। लोगों के अनुरोध पर दोनों देशों के प्रशासन की सहमति के बाद कुछ समय के लिए झूलापुल खोले जा रहे हैं।

यह भी पढ़े:इंदिरा हृदयेश को उम्र के हिसाब से मार्गदर्शन मंडल में चले जाना चाहिए:मदन कौशिक

यह भी पढ़े:उत्तराखंड में चौकी इंचार्ज को मिली लापरवाही की सजा,SSP ने किया सस्पेंड

जानकारी के अनुसार रविवार को धारचूला का झूलापुल सुबह नौ बजे से 10 बजे और शाम चार बजे से पांच बजे तक खोला गया। बता दें धारचूला निवासी एक व्यक्ति की माता का श्राद्ध था। इसमें शामिल होने के लिए नेपाल से उनके रिश्तेदार भारत आए। नेपाल से आने वाले रिश्तेदारों के लिए सुबह एक घंटे तक पुल खोला गया। इसके बाद वापस जाने के लिए शाम चार बजे से पांच बजे तक पुल खोला गया। इस दौरान अन्य लोगों ने भी आवाजाही की। दोनों देशों के प्रशासन ने यह कदम पुल खुलने पर हो रही भीड़ को नियंत्रित करने के लिए उठाया है।

यह भी पढ़े:फिल्म जगत को भाया उत्तराखंड,शूटिंग के लिए देहरादून पहुंची एक्ट्रेस भूमि पेडनेकर

यह भी पढ़े:बागेश्वर के दीपक परिहार बनेंगे वायुसेना में पायलट, पिता बोले, मेरे बेटे का सपना साकार हुआ

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now