गौरवान्वित हुई देवभूमि, रवींद्र रौतेला को मिला आर्मी मेडल, हिजबुल के आतंकी को किया था ढेर

हल्द्वानी: पहाड़ की बात ही कुछ और है। उत्तराखंड के निवासियों के साहस की जितनी तारीफ करें, उतनी कम है। हमारे पहाड़ के लोग सेना में जाकर हमेशा से देश की रक्षा करने को तत्पर रहे हैं। उत्तराखंड के कई सैनिक वीरता सम्मान प्राप्त कर चुके हैं। कईयों ने देश की खातिर अपने प्राणों की आहूति तक दी है।

उत्तराखंड के सीमांत जिले के हवलदार को अब सेना द्वारा सम्मानित किया गया है। पिथौरागढ़ के रवींद्र सिंह रौतेला को उनके अदम्य साहस के लिए सेना की ओर से मेडल प्राप्त हुआ है। जिसके बाद उनके पिता खुशाल सिंह, परिजनों और अन्य लोगों ने भी खुशी ज़ाहिर की है।

यह भी पढ़ें: जसप्रीत बुमराह करने जा रहे हैं शादी,इसलिए BCCI ने दी छुट्टी, स्पो‌र्ट्स एंकर से होगी शादी !

यह भी पढ़ें: टिहरी और हल्द्वानी के दो लोग हैं लापता, परिवार को चाहिए आपकी सहायता, शेयर करें

27 फरवरी को उधमपुर (जम्मू कश्मीर) में लेफ्टिनेंट जनरल वाईके जोशी ने एक सम्मान समारोह में हवलदार रवींद्र सिंह रौतेला को सम्मानित किया। थल के मड़गांव निवासी तीन राजपूत रेजीमेंट में हवलदार रवींद्र सिंह रौतेला को उनकी बहादुरी के लिए वीरता का अलंकरण सेना मेडल मिला है।

जांबाज हवलदार रवींद्र को यह सम्मान मिलने का कारण भी रौंगटे खड़े कर देने वाला है। उन्होंने 15 जनवरी को डोडा इलाके में बर्फ से ढकी पहाड़ी पर भाग रहे आतंकी को मार गिराया था। यह आतंकी कोई और नहीं बल्कि हिजबुल मुजाहिदीन का मुख्य कमांडर था। जिस पर 15 लाख रुपए का इनाम घोषित था।

सेना में हवलदार रवींद्र सिंह सेना मेडल मिलने से बेहद खुश और उत्साहित हैं। रवींद्र के पिता पूर्व सैनिक हवलदार खुशाल सिंह ने बेटे की सफलता पर खुशी जताई।

यह भी पढ़ें: इन दो जगहों पर बनेंगे नए विश्वविद्यालय, उत्तराखंड कैबिनेट ने दी मंजूरी

यह भी पढ़ें: TV9 भारतवर्ष की जीत में चमके मधुर और संत प्रसाद, न्यूज 18 का 3-0 से किया क्लीन स्वीप

यह भी पढ़ें: SSP प्रीति प्रियदर्शिनी का नया आइडिया कराएगा पुलिस अधिकारियों-कर्मचारियों की दोस्ती

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड रोडवेज 90 करोड़ की वसूली तीन हज़ार कर्मचारियों से करेगा,सामने आई अहम जानकारी

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now