Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी: पुलिस फोर्स ने कब्जे में लिया भवन, ठेकेदार ने करोड़ों का कर्ज नहीं चुकाया


हल्द्वानी: बैंक का कर्ज चुकाने में नाकामयाब रहे हल्द्वानी के प्रमुख ठेकेदारों की सूची में शामिल धनंजय गिरी की एक बड़ी प्रॉपर्टी पर कार्रवाई हुई है। राज्य सहकारी बैंक ने प्रॉपर्टी को अपने कंट्रोल में ले लिया है। ठेकेदार धनंजय गिरी ने राज्य सहकारी बैंक का करोड़ों रुपए कर्ज के रूप में लिया था और उसे वापस नहीं करने के चलते कार्रवाई की गई है। राज्य सहकारी बैंक द्वारा कई बार नोटिस दिए जाने के बाद भी धनंजय गिरी ने कर्ज नहीं चुकाया। इसके बाद बैंक पुलिस फोर्स के साथ एसडीएम कोर्ट के पास एक बड़ी बिल्डिंग को अपने कब्जे में लिया है।

राज्य सहकारी बैंक के अधिकारियों की ओर से कहा गया है कि ठेकेदार धनंजय गिरी ने बैंक का कर्ज वापस नहीं लौटाया है। उन्हें कई मौके दिए गए लेकिन कोई सकारात्मक कदम ठेकेदार की ओर से नहीं उठाया गया। बैंक की कार्रवाई के दौरान मौके पर तहसीलदार हल्द्वानी संजय कुमार भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि कहा तहसील के पास राज्य सहकारी बैंक से प्रॉपर्टी को कब्जे में लेने को लेकर पत्र आया था। इस संबंध में पुलिस फोर्स के साथ प्रापर्टी को राज्य सहकारी बैंक कब्जे में ले रही है।इस प्रॉपर्टी को राज्य सहकारी बैंक ने नियमानुसार अपना कब्जा कर लिया है।

ठेकेदार धनंजय गिरी की प्रॉपर्टी में कई दुकान भी हैं। दुकानों को बेच दिया गया है और दुकानदार काफी परेशान है। उनका कहना है कि उनके साथ धोखाधड़ी हुई है और वह अब कानूनी कार्रवाई करेंगे। जानकारी के मुताबिक धनंजय गिरी ने बैंक से 28 दिसंबर 2015 को पांच करोड़ रुपये, 30 सितंबर 2016 को 10 करोड़ रुपये का ऋण लिया था। ऋण के बदले संपत्ति बंधक रखी। वर्ष 2020-21 में ऋणदाता का खाता एनपीए हो गया। बैंक अधिकारी नीलामी के लिए पहुंचे तो पता चला कि संपत्ति बिक चुकी है और ऋणदाता ने कॉम्पलेक्स बनकर 32 दुकानें बनाकर बेच भी दी थी। 

To Top
Ad