उत्तराखण्ड:वोट देने पहुंची बुजुर्ग की तकलीफ देख गोद में उठाकर बूथ तक ले गया ये पुलिसकर्मी

हल्द्वानी: लोकतंत्र के त्योहार की शुरुआत गुरुवार को हुई। 20 राज्यों की  91 सीटों के लिए 11 अप्रैल को मतदान डाला जा रहा है। उत्तराखण्ड में 5 लोकसभा सीट के लिए मतदान जारी है। ताजा अपडेट के अनुसार राज्य में 3 बजे तक करीब 46.59 प्रतिशत मतदान हुआ है। मतदान प्रक्रिया खत्म होने में अभी 2 घंटे का वक्त बचा है और इस आंकडे में 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है।

उत्तराखण्ड के युवाओं का चुनाव के प्रति उत्साह काफी पहले देखने को मिल रहा है।उसी उत्साह के साथ युवा आज सुबह से मतदान केंद्र पहुंचे और लोकतंत्र की ताकत को बढ़ाने के लिए अपने मत का इस्तेमाल किया। इसके अलावा मतदान करने के लिए 90 और 100 की आयु पार वाले बुजुर्ग भी मतदान करने पहुंचे। उत्तरकाशी के रनाडी गांव में वोट डालने 103 और 105 वर्ष की बुजुर्ग महिलाएं पहुंची।

टिहरी की धनोल्टी विधानसभा क्षेत्र के जौनपुर विकास खण्ड के अंतर्गत राजकीय इंटर कॉलेज बंगसील बूथ 51 में 100 वर्षीय वृद्ध महिला कम्मा देवी ने वोट डाला। पिथौरागढ़ के गंगोलीहाट में 105 वर्षीय खीमुली देवी पत्नी रामसिंह अपने पुत्र साधू सिंह के साथ मतदान केंद्र पहुंची।देवप्रयाग  के पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष गया प्रसाद पंचभैया ने 101 साल की उम्र में वोट दिया। रुद्रपुर के सुभाष कॉलोनी निवासी सवित्रि मंडल ( 102 उम्र) को वोट डालने के बूथ तक परिजन लेकर आए।

वहीं एक मामला ऊधमसिंह नगर से सामने आ रहा है जिसने एक मिसाल पेश की है। निर्वाचन क्षेत्र बाजपुर (बेरिया) में करीब 100 साल की असहाय वृद्ध महिला वोट डालने पहुंची। मौके पर ड्यूटी दे रहे  स्पेशल ट्रबल पुलिस में नियुक्त आरक्षी गजेंद्र बिष्ट उन्हें गोद में उठाकर बूथ पर ले गए। इस घटना ने वोट डालने पहुंचे सभी मतदाताओं का ध्यान अपनी ओर खींचा।