नैनीताल: छात्राओं को आपत्तिजनक मैसेज भेजने वाले डिग्री कॉलेज के प्रिंसिपल निलंबित

देहरादून: मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने नैनीताल जिले स्थित राजकीय महाविद्यालय कोटाबाग के प्राचार्य डॉ. प्रेम प्रकाश को कर्मचारी आचरण नियमावली का दोषी मानते हुए निलम्बित करने के निर्देश दिये हैं। डॉ प्रेम प्रकाश को जांच समिति द्वारा उनके वाट्सअप चैट को आपत्ति जनक मानते हुए साइबर क्राइम विशेषज्ञ की राय लेने के बाद प्राचार्य जेसे मर्यादित पद पर कार्यरत रहते उनके आचरण को सही नही माना था। इस पर मुख्यमंत्री ने डॉ. प्रेम प्रकाश को निलम्बित किये जाने की स्वीकृति प्रदान की है।

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी के शिवम जिले में नंबर वन, JEE एडवांस में संकल्प Tutorials का दबदबा

यह भी पढ़ें:ये आस्था है:चारधाम बोर्ड को अंबानी परिवार की मदद, अब सैलरी पा सकेंगे कर्मचारी

बता दें कि कोटाबाग डिग्री कॉलेज के प्राचार्य डॉ. प्रेम प्रकाश पर छात्राओं को अश्लील मेसेज भेजने का आरोप लगाया था। छात्राओं की लिखित शिकायत पर पुलिस ने प्राचार्य के खिलाफ धारा 354 और 504 के तहत मुकदमा दर्ज कराया था। छात्राओं ने तहरीर में आरोप लगाया कि प्राचार्य डॉ. प्रेम प्रकाश टम्टा कॉलेज की कई छात्राओं को व्हॉट्सएप पर अश्लील मेसेज भेजते हैं। फोन कर अपशब्दों का प्रयोग करते हैं। प्राचार्य करीब एक साल पहले ट्रांसफर होकर यहां आए थे। तभी से घटनाए सामने आ रही है। पहले छात्राएं बदनामी के डर से चुप थीं, अब कुछ छात्राओं ने हिम्मत जुटाकर प्राचार्य के खिलाफ आवाज उठाई और शिकायत लेकर थाने पहुंच गईं। वहीं इस मामले में सरकार की कार्यवाही एक संदेश है कि इस तरह का आचरण बिल्कुल भी बर्दास्त नहीं किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज का प्लान, अब स्वच्छता बढ़ाएगी उत्तराखंड का पर्यटन

यह भी पढ़ें: ज्योलीकोट पुलिस का अभियान, बिना मास्क वालों के चालान, शराब पिलाने वालों की लगाई क्लास

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now