उत्तराखंड पुलिस की नई पहल,थानों में बनेगा रिसेप्शन सेंटर,पीडित को रिसिविंग देना अनिवार्य

हल्द्वानी: उत्तराखंड के थानों में जनता की शिकायत को सुनने व जानकारी देने के लिए रिसेप्शन बनाया जाएगा। महिला हेल्प डेस्क को अब नई शक्ल देने की तैयारी पुलिस प्रशासन की है। अब हर शिकायतकर्ता को रिसिविंग दी जाएगी। शिकायते दर्ज करने के लिए एक रजिस्टर तैयार किया जाएगा। जानकारी के अनुसार महीने में दो बार अधिकारी इसकी समीक्षा करेंगे। इस पूरे प्लान को फ्लोर में उतारने के आदेश शनिवार को डीजीपी अशोक कुमार ने दिए हैं।

डीजीपी ने कहा कि जनता को शिकायत है कि थाने में शिकायते रिसिव नहीं की जाती है और उन्हें सरकारी ऑफिस व कोर्ट के चक्कर लगाने पड़ते हैं। अब इस व्यवस्था को सुधारने का वक्त आ गया है। उन्होंने यह भी बताया कि पीडित के पास अगर प्रार्थना पत्र नहीं उसे शिकायत लिखने के लिए स्टेनशनरी भी उपलब्ध कराई जाएगी।

यह जिम्मेदारी महिला हेल्प डेस्क को दी जा रही है क्योंकि थानों में हेड मोहर्रिर या मुंशी के पास बहुत से काम होते हैं। इस डेस्क अब रिसेप्शन सेंटर की तरह काम होगा।सभी शिकायतें एक रजिस्टर में दर्ज की जाएगी और 15 दिन में सीओ, 30 दिन में पुलिस अधीक्षक और तीन महीने में पुलिस कप्तान द्वारा समीक्षा की जाएगी। यहां तैनात कर्मचारी करुण स्वभाव वाले होंगे और पीड़ित व दिव्यांग के प्रति संवेदनशील व्यवहार करेंगे।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now