उत्तराखंड का घोड़ाखाल सैनिक स्कूल बना देश का नंबर वन सैनिक स्कूल

हल्द्वानी: सैनिक स्कूल घोड़ाखाल की बदौलत एक बार फिर उत्तराखंड का नाम रौशन हुआ है। स्कूल को देश भर के सैनिक स्कूलों में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। सैनिक स्कूल सोसायटी द्वारा जारी की गई ताज़ा रैंकिंग में घोड़ाखाल के सैनिक स्कूल को नौंवीं बार प्रथम स्थान हासिल हुआ है। इस बार एनडीए में विद्यालय के 13 छात्र चयनित हुए हैं। जिससे विद्यालय के हाथ एक और उपलब्धि हाथ लगी है। आपको बता दें कि साल 2018 में भी स्कूल को पहले स्थान की रैंकिंग मिली थी।

हर साल रक्षा मंत्रालय द्वारा ऑल इंडिया सैनिक स्कूल सोसायटी की रैंकिंग जारी की जाती हैं। इस साल भी यह रैंकिंग जारी की गई हैं। जिसमें सैनिक स्कूल घोड़ाखाल पहले स्थान पर कायम है। विद्यालय के 13 छात्रों का इस बार एनडीए में चयन हुआ है, जो कि सारे सैनिक स्कूलों में सबसे अधिक है। इन छात्रों में तन्मय तिवारी, आदित्य भट्ट, आयुष नेगी, अनुराग द्विवेदी, आयुष्मान तत्त्रारी, ओमित्य जोशी, मुकुल चौहान, सूरज सिंह, पीयूष उपाध्याय, गरिमय चंद्रा, दिव्य दीप नैनवाल, गोविंदजी, रोहित बिष्ट शामिल हैं। वहीं अपनी स्थापना से अब तक सैनिक स्कूल 600 से अधिक सैन्य अफसर देश को दे चुका है।

यह भी पढ़ें: सर गाड़ी देहरादून से बाहर नहीं गई तो नोएडा में कैसे कटा चालान! SMS ने उड़ाए वाहन स्वामी के होश

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: सड़क दुर्घटना में पंचायत सदस्य की मौत, परिवार के साथ नव वर्ष का जश्न मनाने जा रहे थे

इसके साथ ही सीबीएसई के क्षेत्रीय कार्यालय देहरादून द्वारा भी सैनिक स्कूल घोड़ाखाल को एक प्रशंसा पत्र प्राप्त हुआ है। यह प्रशंसा पत्र विद्यालय को वर्ष 2018, 2019 व 2020 में लगातार शैक्षिक परिणाम ए श्रेणी बनाए रखने व विद्यालय प्रबंधन, प्राचार्या एवं शिक्षकों को विद्यालय के छात्रों को गुणवत्ता परक शिक्षा प्राप्त करने के लिए दिया गया है। आपको बता दें कि इन सभी वर्षों में विद्यालय का परीक्षा परिणाम 80 से 90 फीसदी रहा है। जिस पर विद्यालय की प्रधानाचार्या कर्नल डॉ. स्मिता मिश्रा, प्रशासनिक अधिकारी विंग कमांडर एम प्रेमकुमार, उपप्रधानाचार्य टी रमेश ने सभी छात्रों व शिक्षकों को शुभकामनाएं दी हैं।

सैनिक स्कूल घोड़ाखाल की प्रधानाचार्या कर्नल डॉ. स्मिता मिश्रा ने जानकारी दी और बताया कि इस साल सैनिक स्कूल घोड़ाखाल के 13 कैडेटों का चयन एनडीए के लिए हुआ है। यही वजह है कि विद्यालय एनडीए रैंकिंग में सभी सैनिक स्कूलों में पहले स्थान पर है। इससे पूर्व भी विद्यालय आठ बार पहले स्थान पर रह चुका है। उन्होंने इस उपलब्धि को विद्यालय के शिक्षक, स्टॉफ की मेहनत का परिणाम बताया। उन्होंने कहा सभी बधाई के पात्र हैं।

यह भी पढ़ें: देहरादून दौरे पर मनीष सिसोदिया,मदन कौशिक के साथ डिबेट की तारीख और वक्त साझा किया

यह भी पढ़ें: नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने बताया भाजपा सरकार को विफल, कहा कांग्रेस ही जीतेगी 2022 का चुनाव

यह भी पढ़ें: ऑनलाईन शॉपिंग के नाम पर हुई हल्द्वानी में ठगी, पुलिस की मदद से खाते में वापिस आए 40 हज़ार रुपए

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी के प्राइवेट स्कूलों में नहीं होंगे बड़े विंटर ब्रेक, ठंड पड़े तो पड़े जारी रहेगी पढ़ाई

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now