नई दिल्ली:टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर अंडर-19 टीम की ओर से श्रीलंका में खेल रहे है। उन्होंने गेंदबाजी में एक विकेट लेकर खूब वाहवाही बटोरी क्योंकि उन्होंने अपने पहले विकेट के लिए केवल 12 गेंदों का इंतजार करना पड़ा। सचिन के बेटे अर्जुन से लोगों को बल्लेबाजी में खासा उम्मीदें थी लेकिन वो उसमें खरा नहीं उतरें। बल्लेबाजी का मौका आया तब वो शून्य पर आउट हो गए।बता दें कि अर्जुन फास्ट बॉलर के साथ-साथ बल्लेबाज भी हैं। इसलिए उनसे गेंदबाजी के साथ बल्लेबाजी में भी कमाल करने की उम्मीद है। अर्जुन ने अपना पहला इंटरनेशनल विकेट एलबीडब्ल्यू से लिया और श्रीलंका के कामिल मिशारा को आउट किया।

श्रीलंका अंडर-19 टीम के खिलाफ भारतीय टीम पहले गेंदबाजी करने उतरी और मैच के तीसरे ओवर में अर्जुन तेंदुलकर ने स्विंग बॉल फेकी, जिसको बल्लेबाज समझ नहीं पाए और चकमा खा गए। बॉल सीधे पैड पर लगी और अर्जुन ने जोर से अपील की और अंपायर ने उंगली उठाकर आउट का इशारा कर दिया। इसी तरह अर्जुन तेंदुलकर को पहला इंटरनेशनल विकेट मिल गया।बता दें कि पहले यूथ टेस्ट मैच में श्रीलंका की अंडर-19 टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया, लेकिन उसका यह फैसला भारतीय गेंदबाजों ने गलत साबित कर दिया और श्रीलंका की पूरी टीम पहली पारी में 244 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। इसके जवाब में भारतीय टीम ने पहली पारी में अथर्व तैद (113) और आयुष बडोनी (नाबाद 185) की धमाकेदार पारी की बदौलत 589 रन बनाए।