इंग्लैंड को जीताया विश्वकप, मंगलवार को किया संन्यास का ऐलान

नई दिल्ली: इंग्लैंड क्रिकेट टीम को मैदान पर सुनहरे लम्हें देने वाली दिग्गज महिला ऑलराउंडर जेनी गुन ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। ऑलराउंडर जेनी गुन ने इंग्लैंड को तीन विश्वकप जीतने में काफी बड़ा योगदान दिया था। लगातार चोटिल होने के चलते उनकी फिटनेस में काफी गिरावट देखने को मिली थी, इसके चलते उन्होंने क्रिकेट छोड़ने का फैसला किया। 33 साल की जेनी ने मंगलवार को संन्यास की अधिकारिक घोषणा की। ऑलराउंडर जेनी गुन ने साल 2004 में साथ अफ्रीका के खिलाफ डेब्यू किया था। उस वक्त उनकी उम्र 18 साल थी।

ऑलराउंडर जेनी गुन की क्रिकेट के मैदान पर कमायाबी

  • महिला क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाली जेनी गुन दूसरी इंग्लिश खिलाड़ी हैं।

  • जेनी गुन ने 15 साल तक अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में शिरकत की। 

  • इस दौरान इंग्लैंड की महिला टीम तीन बार विश्वविजेता बनी टीम में रहते हुए इंग्लिश वुमेन 

  • जेनी गुन पांच बार एशेज सीरीज की विजयी टीम इंग्लैंड का हिस्सा रहीं हैं।

  • इंग्लैंज ने साल 2009 और 2017  में 50 ओवर विश्वकप जीता। वहीं 2009 में टीम ने विश्व टी-20 का खिताब भी अपने नाम किया।

  • 100 टी-20 इंटरनेशनल खेलने वाली वह पहली इंटरनेशनल खिलाड़ी हैं।

  • टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट चटकाने वाली वे इंग्लैंड की तीसरी खिलाड़ी हैं, जबकि वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में ये कमाल करने वालीं वे इंग्लैंड की दूसरी महिला खिलाड़ी हैं।

जेनी गुन का इंटरनेशनल क्रिकेट में प्रदर्शन

33 साल की जेनी गुन ने अपनी टीम के लिए 11 टेस्ट मैच खेले हैं। इन 11 टेस्ट मैचों में जेनी गुन के बल्ले से 391 रन निकले हैं, जबकि 29 विकेट उन्होंने अपने नाम किए हैं। वहीं, 144 वनडे इंटरनेशनल मैचों में जेनी गुन ने 1629 रनों के साथ-साथ 136 विकेट भी अपने नाम किए हैं। वहीं, इंटनेशनल क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में जेनी गुन ने 104 मैचों में 682 रनों के अलावा 75 विकेट भी लिए हैं।