पंखे से लटकी मिली भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज की लाश, क्रिकेट जगत में शोक

नई दिल्ली: भारतीय Cricket से जुड़ी एक दुख भरी खबर सामने आ रही है। भारत पूर्व सलामी बल्लेबाज वीबी चंद्रशेखर का चेन्नई में निधन हो गया। पहले खबर सामने आई थी कि उनकी मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई लेकिन अब कहा जा रहा है कि उन्होंने आत्महत्या की थी। टाइम्स नाऊ के मुताबिक टीम इंडिया के पूर्व बल्‍लेबाज वीबी चंद्रशेखर ने गुरुवार की शाम मायलापुर में अपने घर में आत्‍महत्‍या की थी।  जांच अधिकारी परीक्षक सेंथिल मुरुगन कहा कहना है कि 57 वर्षीय चंद्रशेखर ने कोई सुसाइड नोट नहीं छोड़ा।

Image result for vb chandrasekhar

मुरुगन ने जानकारी दी , ‘चंद्रशेखर की पत्‍नी ने बताया कि उन्‍होंने कमरे का दरवाजा खटखटाया, लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। इसके बाद उन्‍होंने खिड़की से झांका तो पाया कि चंद्रशेखर पंखे से लटके हुए हैं।’  वीबी चंद्रशेखर 57 वर्ष के थे। Cricket जगत में वीबी के नाम से मशहूर चंद्रशेखर अपनी पत्नी और दो बेटियों के साथ रहते थे। पुलिस ने कहा कि चंद्रशेखर की पत्नी सौम्या ने कहा कि उन्होंने अपने परिवार के साथ शाम 5.45 पर चाय पी और उसके बाद अपने कमरे में गए। ‘उन्होंने (सौम्या) ने साथ ही ये भी बताया कि चंद्रशेखर अपने क्रिकेट बिजनेस में हुए घाटे से डिप्रेशन में थे।’ 

max face clinic haldwani

भारत के लिए खेले वीबी चंद्रशेखर

वीबी चंद्रशेखर की पहचान एक विस्टोफटक बल्लेबाज के रूप में होती थी। उन्होंने भारत के लिए 7 मुकाबले खेले खेले थे, जिसमें उन्होंने एक अर्धशतक की मदद से कुल 88 रन बनाए थे। उनका सर्वोच्च स्कोर 53 रन रहा था। इसके बाद वह टीम का नियमित हिस्सा नहीं बन सके थे। वीबी चंद्रशेखर ने 1988 में न्यूजीलैंड के खिलाफ विशाखापट्टनम में डेब्यू किया था। वीबी चंद्रशेखर भारत के लिए टेस्ट मैच नही खेल पाए थे लेकिन घरेलू क्रिकेट में उनका एक कद था।

यह भी पढ़ें:मातम में बदली खुशियां, रक्षाबंधन के दिन DPS की टीचर ने क्लास में लगाई फांसी

साल 1988 में रणजी ट्रॉफी का खिताब जीतने वाली तमिलनाडु की टीम का हिस्सा बने थे। क्रिकेट करियर के बाद वीबी ने कोचिंग और कमेंट्री से जुड़े। उन्होंने कुछ समय के लिए राष्ट्रीय चयनकर्ता के रूप में भी कार्य किया था। वह पहले तीन संस्करणों के दौरान आईपीएल टीम चेन्नई सुपर किंग्स के प्रबंधक भी रहे।

क्रिकेट जगत में शोक

भारत के पूर्व बल्लेबाज वीबी के निधन के बाद पूरे क्रिकेट जगत में शोक की लहर दौड़ पड़ी है। नके करीबी मित्र और भारत के पूर्व कप्तान के श्रीकांत ने कहा यह मेरे लिए एक बड़ा झटका है मैं इस पर विश्वास नहीं कर सकता। वह एक उच्च स्तर के आक्रमक बल्लेबाज थे। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि वे भारत के लिए ज्यादा नहीं खेल सके। हम दोनों ने क्रिकेट के मैदान से दूर होने के बाद एक साथ कमेंट्री भी की। वह एक अच्छे मिजाज के व्यक्ति थे। भारतीय क्रिकेट चंद्रशेखर को उनके योगदान के लिए याद रखेगा।

बता दें कि वीबी चंद्रशेखर तमिलनाडु प्रीमियर लीग की कांची वीरन टीम के मालिक भी थे। क्रिकेट उनके लिए सब कुछ था। वीबी चेन्नई में एक अत्याधुनिक क्रिकेट अकादमी भी खोली थी।