कुर्सी संभालने से पहले सौरव गांगुली ने विराट एंड कम्पनी को दिया ये बड़ा लक्ष्य

नई दिल्ली: भारत के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली जल्द बीसीसीआई के अध्यक्ष पद की कुर्सी संभालेंगे। 23 अक्टबूर को दादा के अध्यक्ष बनने पर आधिकारिक मोहर लग जाएगी। कुर्सी संभालने से पहले सौरभ गांगुली ने भारतीय टीम को नया लक्ष्य दिया है। सौरभ गांगुली ने पत्रकारों से बात की। उन्होंने कहा कि टीम इंडिया को आईसीसी के इवेंट्स में नॉक आउट में हारने की आदत को छोड़ना होगा।

टीम पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करती है लेकिन सेमीफाइनल और फाइनल में हार जाती है। साल 2013 में आखिरी बार महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने आईसीसी चैपियंस ट्रॉफी जीती थी, इसके बाद से भारतीय टीम कोई भी आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीत पाई है।

पिछले 6 सालों ने टीम विश्वकप के दो सेमीफाइनल, टी-20 विश्वकप का एक फाइनल और चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल हार चुकी है। गांगुली ने कहा कि कप्तान विराट कोहली चैपियंन खिलाड़ी हैं और वो जरूर इससे पार पा लेगें। पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने मंगलवार को कहा कि वह चाहते हैं कि भारतीय टीम प्रबंधन आने वाले समय में बड़े आईसीसी आयोजनों में जीत हासिल करने पर ध्यान केंद्रित करे।

गांगुली ने कहा कि वह चाहते हैं कि कप्तान विराट कोहली इस दिशा में गम्भीरता से सोचें। मुम्बई में नामांकन दाखिल करने के बाद कोलकाता पहुंचे गांगुली ने यहां ईडन गार्डन्स स्टेडियम में संवाददाताओं से कहा, “हमें अब बड़े टूर्नामेंट्स जीतने पर ध्यान लगाना होगा। मैं जानता हूं कि ये लोग हर टूर्नामेंट नहीं जीत सकते लेकिन यह भी सच है कि इन लोगों ने कई टूर्नामेंट में नाकामी भी झेली है।”