घर चलाने के लिए चोरी की और कूड़ा भी उठाया लेकिन कल तोड़ दिया लारा का रिकॉर्ड

max face clinic haldwani

नई दिल्ली: क्रिकेट खिलाड़ियों की जिंदगी हर फैंस को आकर्षित करती है। हर कोई चाहता है कि उन्हें भी वैसे ही जिंदगी मिले। इंटरनेशनल क्रिकेट में कुछ खिलाड़ी ऐसे हैं जिनकी जिंदगी पार्टिज़ के इर्द गिर्द घूमते है, यह खिलाड़ी कोई और नहीं बल्कि विश्व के ताबड़तोड़ बल्लेबाज क्रिस गेल हैं। भारत के खिलाफ दूसरे वनडे में गेल ने ब्रायन लारा का रिकॉर्ड तोड़ दिया। त्रिनिडाड वनडे में गेल ने मात्र 7 रन बनाए लेकिन उन्होंने ब्रायन लारा के 10,348 रनों के रिकॉर्ड को पछाड़ दिया । गेल वेस्टइंडीज की ओर से वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। उनके खाते में अब 10 हजार 353 रन हो गए हैं। गेल दुनिया के उन खिलाड़ियों में शामिल हैं जिन्हें विरोधी खेमा भी पसंद करता है। वो जीत और हार के बाद भी विपक्षी खेमे के साथ मजाक करते नजर आते हैं। गेल ने जो आज मुकाम हासिल किया है उसके पीछे वो कठिन परिश्रम है जिसकी कहानी आपको भावुक कर देगी।

दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेटरों में शुमार गेल के परिवार की स्थिति उनके क्रिकेट खेलने से पहले काफी बुरी थी। उनका परिवार कच्ची झोपड़ी में रहता था। उन्होंने घर का खर्चा चलाने के लिए कूड़ा तक उठाया है और चोरी भी की है। बेहद गरीब होने के चलते गेल पढ़ाई पूरी नहीं कर पाए थे। इन सभी बातों का खुलासा खुद गेल ने एक इंटरव्यू में किया था।

क्रिस गेल वेस्टइंडीज के लिए 300 वनडे खेलने वाले पहले खिलाड़ी भी हैं। इसके साथ ही वो वनडे में 23 शतक लगाने वाले पहले विंडीज बल्लेबाज हैं। उनके नाम सबसे ज्यादा 326 छक्के मारने का रिकॉर्ड भी है। वो वेस्टइंडीज के लिए वनडे में डबल सेंचुरी ठोकने वाले इकलौते खिलाड़ी हैं। वहीं टेस्ट में गेल दो बार तेहरा शतक जमा चुके हैं।

क्रिस गेल का डेब्यू भारत के खिलाफ ही हुआ। हालांकि उस सीरीज़ में वे कुछ खास प्रदर्शन नही कर पाए। उन्हें एक बार फिर भारत के खिलाफ मौका 2002 वनडे सीरीज में मिला। इस मौके को गेल ने हाथ से नही जाने दिया और तीन शतक जड़े। यह सीरीज़ वेस्टइंडीज ने 4-3 से अपने नाम की थी। साल 2005 में गेल की जिंदगी ने एक बार फिर टर्न लिया। जब खुलासा हुआ कि उनके दिल में छेद है। लेकिन गेल ने इन सभी चीजों की परवाह ना करते हुए अपने क्रिकेट में फोक्स करने का फैसला लिया। गेल ने कभी भी बल्लेबाजी का अंदाज नही बदला और आज इसी की बदौलत वो वेस्टइंडीज ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक हैं।