भारतीय टीम पहली बार खेलने जा रही है ओलंपिक, इतिहास रचने का मौका

हल्द्वानीः भारतीय खिलाड़ियों ने अपने खेल से हमेशा से ही देश का मान सम्मान बढ़ाया है। एक बार फिर भारतीय हैंडबॉल टीम के पास इतिहास रचने का मौका है। भारतीय पुरुष हैंडबॉल टीम साल 2020 में होने वाले टोक्यो ओलंपिक के लिए पहली बार क्वालीफायर मैच खेलेगी। क्वालीफायर मैच खाड़ी देश दोहा में 17 से 26 अक्तूबर के बीच खेला जाएगा। भारतीय हैंडबॉल टीम सुविधाएं ना मिलने के कारण अभी तक ओलंपिक खेलों में हिस्सा नहीं लेती थी।

बता दें कि बीते कुछ समय पहले इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ हैंडबॉल एसोसिएशन ने टैराफलेक्स इंडोर गिफ्ट किया था। इसके बाद देश की हैंडबॉल टीम ने अंतराष्ट्रीय मैदान पर प्रैक्टिस शुरू की। भारतीय हैंडबॉल एसोसिएशन के महासचिव आनंदेश्वर पांडेय का कहना है कि देश की टीम एशियाड और इंटरनेशल टूर्नामेंट ही खेलती थी। इंडोर गेम और एस्ट्रोटर्फ नहीं होने से टीम कभी ओलंपिक क्वालीफायर में खेलने नहीं जा सकी। लेकिन इस बार से सुविधाएं मिलने के वजह से भारतीय टीम को ओलंपिक क्वालीफायर खेलने का मौका मिला है। क्वालीफायर मैच के लिए भारतीय टीम का फैजाबाद में प्रशिक्षण शिविर चल रहा है।

हैंडबॉलल खेल ओलंपिक में शामिल सबसे तेजी से खेला जाने वाला खेल है। और अब जब टीम ओलंपिक में मैच खेलने उतरगी तो खिलाड़ी अपने खेल के हुनर से ओलंपिक में लोहा मनवाएंगे। और इतिहास रचेंगें।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंडः आदमखोर गुलदार ने झपट्टा मार मां की गोद से छीना बच्चा

यह भी पढ़ेंः हल्द्वानी लाइवः रिजॉर्ट में चल रही थी डांस पार्टी, 13 युवक-युवतियां गिरफ्तार

यह भी पढ़ेंः बारिश ने बिगाड़ा उत्तराखण्ड में विजय हजारे ट्रॉफी का रोमांच, अबतक 7 मुकाबले रद्द

यह भी पढ़ेंः हल्द्वानी में डेंगू मचा रहा कोहराम, डेंगू से महिला की मौत, अस्पताल में तोड़ा दम