भारत में लौटा मैच फिक्सिंग, आईपीएल खिलाड़ी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

नई दिल्ली: कर्नाटका प्रीमियर लीग इस बार काफी विवाद में रही थी। इस बार लीग में मुकाबले फिक्स होने की बात सामने आई थी। कुछ खिलाड़ियों पर आरोप लगे थे कि उनका बुकियों के साथ कनेक्शन था। इस मामले में पुलिस ने दो घरेलू खिलाड़ियों को गिरफ्तार किया है। इस मामले में पुलिस ने बेल्लारी टीम के कप्तान सीएम गौतम और बहरार काजी को गिरफ्तार किया है। केपीएल 2019 के फाइनल के दौरान हुबली और बेल्लारी टीम के बीच स्पॉट फिक्सिंग हुई थी जिसमें धीमी बल्लेबाजी के लिए 20 लाख रुपए दिए गए थे। बता दें कि सीएम गौतम रणजी और आईपीएल खेल चुके हैं।

बता दें कि कर्नाटक प्रीमियर लीग (KPL) में मैच फिक्सिंग पर एक के बाद एक गिरफ्तारी का दौर जारी है।  इससे पहले केपीएल से जुड़ी एक क्रिकेट टीम के कोच गिरफ्तार हुए थे। बेंगलुरु से भारतीय क्रिकेटर निशांत सिंह शेखावत को सट्टेबाजी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने एम विश्वनाथन को 25 अक्टूबर को गिरफ्तार कर लिया था। वहीं, इससे पहले सेंट्रल क्राइम ब्रांच (CCB) की टीम ने ज्वाइंट पुलिस कमिशनर (Crime) संदीप पाटिल की नेतृत्व में अली असफाक थारा, केपीएल टीम बेलागावी पेंथर्स (Belagavi Panthers) को सितंबर में गिरफ्तार किया था। 

संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) एस पाटिल का कहना है कि निशांत सिंह शेखावत के सट्टेबाजों के साथ संबंध थे। वह उनके संपर्क में थे। बेंगलुरु ब्लास्टर्स टीम के गेंदबाजी कोच विनू प्रसाद से संपर्क किया था। विनू प्रसाद को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।

बेंगलुरु ब्लास्टर्स टीम के गेंदबाजी कोच विनू प्रसाद और बल्लेबाज विश्वनाथन को पिछले हफ्ते शुक्रवार को मैच फिक्सिंग के एक अलग मामले में गिरफ्तार किया गया था। कोच पर पिछले साल बेंगलुरु ब्लास्टर्स और बेलागावी पैंथर्स टीम के बीच केपीएल के तहत खेले गए मैच को प्रभावित करने का आरोप था।

यह भी पढ़ें:पुलिस को मिली सेक्स रैकेट चलने की सूचना, वहां पहुंचे तो मौजूद थे तीन कपल

यह भी पढ़ें:50 अंडे खाने की लगी शर्त, 42 खाने के बाद मर गया युवक, गर्भवती है पत्नी

यह भी पढ़ें:अल्मोड़ा के लक्ष्य ने विदेश में रोशन किया उत्तराखण्ड नाम, एक और खिताब पर कब्जा

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी SBI में किसके हैं 27 करोड़ रुपए, ग्राहकों को खोज रहा है बैंक

पिछले महीने कर्नाटक प्रीमियर लीग (KPL) की टीम बेलगावी पैंथर्स के मालिक अशफाक अली थारा को सट्टेबाजी में शामिल होने के आरोप में बेंगलुरु में गिरफ्तार किया गया। कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ (केएससीए) द्वारा संचालित केपीएल टूर्नामेंट इस साल 16 से 31 अगस्त तक खेला गया था। यात्रा और पर्यटन व्यवसायी अशफाक अली थारा ने 2017 में बेलगावी पैंथर्स टीम खरीदी थी. केंद्रीय अपराध शाखा (CBB) ने कई दिनों की पूछताछ के बाद अशफाक को गिरफ्तार किया। अशफाक के अलावा केपीएल से जुड़ी अन्य टीमों के खिलाड़ियों से भी पूछताछ की गई।