विश्वकप से पहले ऋषभ पंत के बारे में भारतीय कोच का बड़ा बयान

1044

नई दिल्ली: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए मोहाली वनडे में विकेटकीपर ऋषभ पंत के प्रदर्शन की खूब आलाचोना हुई। पंत की खराब विकेटकीपिंग के आगे भारत को 4 विकेट से यह मैच गंवाना पड़ा। भारतीय टीम ने 359 रनों का लक्ष्य ऑस्ट्रेलिया को दिया था और कगांरूओं ने उसे चेज़ कर भारतीय टीम के सीरीज जीतने के मंसूबों पर पानी फेर दिया।

पंत की खराब विकेटकीपिंग के बाद धोनी को फाइनल मुकाबले के लिए टीम में वापसी के पक्ष में भारतीय फैंस नजर आए। उन्होंने अपनी बात को सोशल मीडिया पर रखा। इस बारे में टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच भरत अरुण का कुछ और ही सोचना है। पांचवे मुकाबले से पहले उन्होंने ऋषभ पंत का बचाव किया। उन्होंने कहा कि पंत अभी युवा है और उन्हें वक्त देना चाहिए। ऋषभ की तुलना धोनी से नहीं होनी चाहिए। पंत को इंटरनेशनल क्रिकेट में एक साल हुआ है और धोनी पिछले 15 सालों से टीम का हिस्सा है।

भरत अरुण ने दिल्ली में बुधवार को होने वाले सीरीज के पांचवे और निर्णायक मैच से पहले कहा, ‘इस समय पंत की तुलना धोनी से करना सही नहीं होगा। धोनी महान खिलाड़ी हैं, विकेट के पीछे उनका कोई जवाब नहीं। उनके जैसा विकेटकीपर मौजूदा वक्त पर शायद ही हो। मैदान में विराट (विराट कोहली) को जब भी जरूरत होती है तो उनकी तरफ देखते हैं। टीम पर उनका काफी असर है।’
केदार जाधव की गेंदबाजी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अगर पांच गेंदबाज अपना काम कर देगें तो उनकी जरूरत नहीं पड़ेगी। उन्होंने कहा, ‘केदार ने कई बार टीम के लिए शानदार प्रदर्शन किया है लेकिन हम गेंदबाजी इकाई को कहते है कि जब तब जाधव की जरूरत नहीं पड़े तब तक उनसे गेंदबाजी ना कराई जाए। अगर जरूरी हुआ तो ही केदार हमारे लिए गेंदबाजी के लिए अच्छा विकल्प है। मुख्य बात ये है कि वो विकेट चटका सकते है और विरोधी टीमें भी यह जानती हैं।