पांच साल बाद मैदान पर उतरे सचिन, पहली ही गेंद पर लगाया चौका

ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग प्रभावितों की मदद के लिए रविवार को मेलबर्न में एक चैरिटी क्रिकेट मैच खेला गया। मैच के दौरान पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने ऑस्ट्रेलियाई महिला गेंदबाज एलिस पैरी की चुनौती को पूरा किया। उन्होंने पैरी के खिलाफ एक ओवर बल्लेबाजी की। दरअसल, इस मैच से एक दिन पहले सोशल मीडिया पर पैरी ने तेंदुलकर को अपना एक ओवर खेलने का चैलेंज दिया था।

पैरी की चुनौती स्वीकार करते हुए तेंदुलकर ने जवाब दिया था, ‘‘कंधे की चोट के चलते डॉक्टर ने मुझे ऐसा कुछ करने से मना किया है। इसके बावजूद मैं आपका एक ओवर खेलने के लिए मैदान में उतरुंगा। उम्मीद करता हूं कि बुशफायर (जंगल की आग) से पीड़ितों के लिए काफी फंड जुटाएंगे और तुम मुझे आउट भी कर सको।’’

तेंदुलकर ने पैरी की चुनौती पूरी करने के लिए 40 मिनट तक बल्लेबाजी की। सचिन ने 2013 में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। उन्होंने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम पर नवंबर 2013 में आखिरी टेस्ट खेला था। सचिन ने भारतीय टीम के लिए 200 टेस्ट और 463 वनडे खेले। उन्होंने टेस्ट में 53.78 की औसत से 15921 और वनडे में 44.83 की औसत से 18426 रन बनाए थे। सचिन ने एकमात्र टी-20 में 10 रन की पारी खेली थी।

मैच में रिकी पोंटिंग की टीम ने एडम गिलक्रिस्ट एंड कंपनी को 1 रन से हरा दिया। गिलक्रिस्ट-11 ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया था। पोंटिंग-11 ने 10 ओवर के मैच में 5 विकेट पर 104 रन बनाए। इसके जवाब में गिलक्रिस्ट-11 6 विकेट पर 103 रन ही बना सकी। पोंटिंग-11 के ब्रायन लारा ने 11 गेंद पर 30 और कप्तान पोंटिंग ने 14 गेंद पर 26 रन की पारी खेली। तेंदुलकर पोंटिंग-11 के कोच थे।