हॉस्पिटल में पिता की चल रही थी हार्ट सर्जरी और बेटा टीम की लगा रहा था नैया पार

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम न्यूजीलैंड दौरे पर है। फैंस के भरोसे पर खरा उतरते हुए टीम इंडिया ने वनडे सीरीज को अपने नाम कर लिया है और 3-1 से अजेय बढ़त बनाई हुई है। न्यूजीलैंड दौरे से पहले टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में इतिहास रचा। टीम ने ऑस्ट्रेलियाई धरती में पहली बार (71) सालों में टेस्ट सीरीज को अपने नाम किया। ऑस्ट्रेलियाई दौरे से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आ रही है।

पाइल्स की बीमारी का होगा अंत, जरूर देखें साहस होम्योपैथिक टिप्स

टीम इंडिया को टेस्ट सीरीज में चैंपियन बनाने वाले चेतेश्वर पुजारा ने एक बड़ा खुलासा किया है। दरअसल जिस वक्त ये दौरा चल रहा है उस वक्त पुजारा के पिता अरविंद पुजारा हॉस्पिटल में भर्ती थे। पुजारा ने एक वेबसाइट को दिए गए इंटरव्यू में कहा कि मुझे सिडनी टेस्ट से पहले डॉक्टरों ने बताया था कि मेरे पिता ठीक हो जाएंगे। उनको इस सर्जरी की जरूरत थी क्योंकि उनका हार्ट रेट सामान्य नहीं था।

चेतेश्वर ने आगे कहा कि पिता की सर्जरी 3 जनवरी को थी, जो कि सिडनी टेस्ट का पहला दिन था। हां, यह सर्जरी कहीं ना कहीं मेरे दिमाग में थी लेकिन मैं उनमें से हूं जो मानसिक रूप से बेहद मजबूत है, इसलिए मैं अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान लगाने में सक्षम था। चेतेश्वर पुजारा ने सिडनी टेस्ट में 373 गेंदों में 22 चौके लगाए और शानदार 193 रनों की पारी खेली।जारा ने बताया है कि उस वक्त स्वदेश में हार्ट सर्जरी से गुजर रहे उनके पिता ने उन्हें दिलासा देते हुए कहा था कि डबल सेंचुरी से चूकने पर तुम निराश मत हो, क्योंकि 7 रन कोई मायने नहीं रखते। बता दें कि पुजारे इस सीरीज़ में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे। उन्होंने 4 मैच में 3 शतक लगाए और 521 रन बनाए। दूसरे नंबर पर विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत रहे। पंत ने 350 रन बनाए। टेस्ट सीरीज के बाद टीम इंडिया वनडे सीरीज को 2-1 से जीतने में कामयाब रही। वनडे सीरीज़ में महेंद्र सिंह धोनी मैन ऑफ द सीरीज रहे। धोनी ने 193 रन बनाए थे।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now