गेंदबाज नहीं कर सके कमाल, रणजी ट्रॉफी में उत्तराखण्ड की 5वीं हार

हल्द्वानी: सौरभ रावत के 110 और दिक्षांशु नेगी की 81 रनों की पारी ने उत्तराखण्ड को झारखंड के खिलाफ मुकाबला जीतने का मौका तो दिया था लेकिन वह गेंदबाजों के लिए काफी नहीं था। उत्तराखण्ड को रांची में झारखंड ने 6 विकेट से हराया। रणजी ट्रॉफी 2019/2020 सीजन में उत्तराखण्ड की यह 5वीं हार है। उत्तराखण्ड ने झारखंड को जीत के लिए 203 रनों का लक्ष्य दिया था। झारखंड ने आखिरी दिन के पहले सत्र में ही लक्ष्य को 6 विकेट शेष रहते हासिल कर लिया। झारखंड की ओर से दूसरी पारी में कुमार देओब्रत 93* और कुमार सूरज ने 49 रनों का योगदान देकर टीम की जीत सुनिश्चित की। गेंदबाजी में उत्तराखण्ड की ओर से आकाश और दिक्षांशु नेगी को 2-2 विकेट हासिल किए।

पहली पारी में उत्तराखण्ड ने 227 रन बनाए। एक वक्त में उसका स्कोर 211 पर 4 था लेकिन अंतिम 16 रन पर उत्तराखण्ड ने 6 विकेट खो दिए जो हार की मुख्य वजह बनी। जवाब में झारखंड ने 298 रन बनाए। मयंक मिश्रा ने 5 विकेट हासिल किए और विरोधी टीम केवल 71 रनों की बढ़त हासिल कर पाई। दूसरी पारी में सौरभ रावत ने शानदार 110 रनों खेली। उत्तराखण्ड के लिए इस सत्र में यह पहला शतक था। वहीं दिक्षांशु नेगी ने 81 रनों की पारी खेली। इन दोनों के अलावा कोई भी बल्लेबाज झारखंड के गेंदबाजों के आगें नहीं टिक पाया। यह मैच उत्तराखण्ड भले ही हार गया हो लेकिन फैंस टीम के प्रदर्शन से संतुष्ट हैं। इस मुकाबले में उत्तराखण्ड टीम ने जज्बा दिखाया और घरेलू क्रिकेट में लगातार ऐसा प्रदर्शन उसे मजबूत करेगा और पहचान देगा। इस मुकाबले में अगर मिडल ऑडर ने रन किए होते तो तस्वीर कुछ और हो सकती थी।