कुमाऊं के डिग्री कॉलेज सिखाएंगे युवाओं को खेतीबाड़ी के गुण, उत्तराखंड सरकार के पास पहुंचा प्लान

हल्द्वानी: कॉलेजों में हर तरह की पढ़ाई होती है, कई किस्म के रोजगार से जुड़े सबजेस्ट्स भी पढ़ाए जाते हैं। लाज़मी है कि कई राज्यों में कृषि से जुड़ी लिखाई पढ़ाई भी संचालित होती है। कृषि एक ऐसा विषय है जिसके बारे में जानकारी पाना आम जनमानस के लिए भी लाभदायक है। तो अब कुमाऊं के कॉलेजों के लिए भी इसी संबंध में अच्छी खबर सामने आ रही है।

दरअसल अब कुमाऊं के दो कॉलेजों को चुना गया है जिसमें कृषि विषय पढ़ाना शुरू किया जाएगा। जी हां, अब नैनीताल जिले के कोटाबाग डिग्री कॉलेज और ऊधमसिंहनगर जिले के रुद्रुपर डिग्री कॉलेज में कृषि विषय को जोड़ने की कवायद शुरू हो गई है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड की बड़ी खबर, CM त्रिवेंद्र सिंह रावत को दिल्ली AIIMS रेफर किया गया

यह भी पढ़ें: एक्शन में हल्द्वानी नगर निगम, अवैध तरीके से बन रहे कॉम्पलैक्स को JCB से ढहाया

आपको बता दें कि दोनों ही कॉलेजों में कृषि विषय की पढ़ाई शुरू करने को लेकर उच्च शिक्षा निदेशालय काफी गंभीर है। निदेशालय की ओर से शासन को उक्त प्रस्ताव भी भेजा जा चुका है। यह कोर्स स्नातक से शुरू करने की बात भी प्रस्ताव में कही गई है। हालांकि पेंच यह भी है कि शासन से मंजूरी मिलने के बाद भी काम खत्म नहीं होगा, कृषि विषय को मान्यता भी लेनी पड़ेगी।

अगर निदेशालय के अफसरों और कॉलेजों की सुनें तो, उनका साफ तौर पर यह मानना है कि संबंद्धता मिलने के बाद भी कृषि विषय को स्ववित्त पोषित योजना के तहत ही संचालित किया जा सकेगा। आपको बता दें कि प्रदेश में उच्च विभाग के अंतर्गत 105 डिग्री कॉलेज आते हैं, जिसमें किसी भी कॉलेज में कृषि की पढ़ाई नहीं होती।

यह भी पढ़ें: सैयद मुश्ताक अली टी-20 ट्रॉफी के लिए उत्तराखंड क्रिकेट टीम का हुआ ऐलान,हल्द्वानी के चार खिलाड़ी टीम में शामिल

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी बेलबाबा मंदिर के पास पेड़ से टकराई दिल्ली से आ रही उत्तराखंड रोडवेज बस

इसके अलावा कोटाबाग डिग्री कॉलेज के प्राचार्य डॉ. दिनेश व्यास ने बताया कि पहले भी हमारी तरफ से कई प्यास किए गए हैं। विषय को मान्यता मिले, इसके लिए जीबी पंत कृषि एवं प्रौद्यौगिकी विवि तथा बागवानी और वानिकी विवि भरसार को पत्र भी भेजे गए थे। मगर दोनों में से किसी भी विवि से संबद्धता नहीं मिल सकी।

सहायक निदेशक उच्च शिक्षा डॉ. एसएस नयाल ने जानकारी दी और बताया कि कुमाऊं के दो कॉलेज, रुद्रपुर और कोटाबाग डि्री कॉलेज में कृषि विषय की पढ़ाई के संचालन को ले कर शासन को प्रस्ताव भेज दिया गया है। उन्होंने कहा इसके पहले तो प्रस्ताव को मंजूरी मिलने का इंतज़ार है, दिसके बाद ही संबद्धता के लिए सोच विचार किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: पुलिस ने कहा ‘कृपया शांति बनाए रखें’, कॉर्बेट में शोर मचाने वालों की खैर नहीं

यह भी पढ़ें: नैनीताल के जंगलों में भटके गुजरात से आए पर्यटक, पुलिस ने खोज निकाला

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now