तीरथ सिंह रावत को बेटी लोकांक्षा बोली ऑल द बेस्ट, इन मुद्दों पर काम करने को कहा

हल्द्वानी: कुछ ही देर में तीरथ सिंह रावत उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। उन्हें विधायक दल का नेता चुन लिया गया है। उनके सीएम बनने के बाद देहरादून और उनके गांव में खुशी का माहौल है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की पत्नी डॉक्टर रश्मि रावत और बेटी लोकांक्षा ने खुशी जाहिर की।

डॉक्टर रश्मि रावत ने कहा कि तीरथ सिंह रावत शांत स्वभाव के जरूर है लेकिन उनके अंदर टीम लीड करने की क्षमता है। विधायक दल की बैठक में सांसदों को जब बुलाया गया तो उन्हें लगा कि कोई बड़ी घोषणा हो सकती है। उन्होंने कहा कि उनकी क्षमताओं और योग्यता को देखते हुए उन्हें कोई बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है, इसका उन्हें अंदाजा था। इस दौरान उन्होंने कहा कि तीरथ सिंह रावत अपने काम से जनता के अलावा विरोधी दल भी पसंद करेंगे। डॉक्टर रश्मि रावत ने कहा कि यह जिम्मेदारी देने से पहले कैलकुलेशन की गई होगी। उन्होंने केंद्रीय नेतृत्व का धन्यवाद भी किया।

दूसरी ओर बेटी लोकांक्षा रावत ने बताया कि वह परीक्षा देने स्कूल गई थी। वहां से वापस लौटते वक्त उन्हें पिता के मुख्यमंत्री बनने की जानकारी मिली। वह बेहद खुश हैं। उन्होंने कहा कि वह चाहती हैं कि उनके पिता जनता की जितनी समस्या हल कर सकते हैं… उनती करें… नेताओं को इसलिए ही तो जनता द्वारा चुना जाता है। मैं चाहती हूं कि प्रदेश में बेरोजगारी को खत्म करने और रोजगार बढ़ाने के लिए काम मेरे पिता करें। लोकांक्षा इंटर की छात्रा हैं और वह सेंट जोजेफ्स एकेडमी में पढ़ती हैं।

बता दें कि तीरथ सिंह रावत तीन भाई हैं। सबसे बड़े भाई जसवंत सिंह रावत भारतीय सेना से रिटायर हैं। वह पौड़ी के सीरों गांव में ही रहते हैं। दूसरे भाई कुलदीप सिंह रावत प्राइवेट सेक्टर में जॉब करते हैं। वह देहरादून के क्लेमेंटटाउन क्षेत्र में रहते हैं। तीनों में तीरथ सिंह रावत सबसे छोटे भाई हैं।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now