नैनीताल में यूपी के पीसीएस अधिकारियों ने काटा हंगामा,पुलिस ने की कानूनी कार्रवाई

नैनीताल: नए साल का जश्न मनाने उत्तर प्रदेश से नैनीताल पहुंचे दो लोगों के खुद को पीसीएस अधिकारी बताकर खासा हंगामा खड़ा कर दिया। काफी देर समझाने के बाद भी शांत नहीं होने पर जब पुलिस ने दोनों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की, तो दोनों के तेवर शांत हुए। इसके बाद इन दोनों कथित अफसरों ने भविष्य में ऐसी इस तरह की हरकत नहीं करने का आश्वासन दिया। इधर पुलिस ने स्वास्थ्य परीक्षण कराने के बाद पुलिस एक्ट के तहत शांति भंग पर 81 एक्ट के तहत दोनों के खिलाफ चालानी कार्रवाई की और दोनों को छोड़ दिया गया।

यह भी पढ़े:रोडवेज बस और दफ्तर के अंदर उड़ा रहे थे हुक्के का धुआं, चालक सहित तीन कर्मचारी बर्खास्त

यह भी पढ़े:कोरोना वैक्सीन को लेकर उत्तराखंड में तैयारी शुरू, कुमाऊं में 4 जनवरी से होगा रिहर्सल

जानकारी के अनुसार थर्टी फर्स्ट की रात नगर की माल रोड पर पर्यटक जश्न मना रहे थे। इसी बीच उत्तर प्रदेश से यहां पहुंचे दो लोगों का किसी बात पर कुछ लोगों से विवाद हो गया। विवाद की सूचना पर मल्लीताल कोतवाली के पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे। उन्होंने विवाद को समझा-बुझाकर वहीं निपटाने की कोशिश की। लेकिन यहां मौजूद दो लोग खुद को यूपी का पीसीएस अधिकारी बताते हुए उलझने लगे, जिससे विवाद अधिक बढ़ गया। जब दोनों नहीं माने तो पुलिस उन्हें बीडी पांडे अस्पताल लेकर गई और वहां स्वास्थ्य परीक्षण कराकर उन्हें कोतवाली ले आई। दोनों ने कोतवाली में भी जमकर हंगामा किया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने की बात कही तो दोनों शांत हो गए। कोतवाल अशोक कुमार ने बताया कि दोनों के खिलाफ 81 पुलिस एक्ट के तहत चालान किया गया।

यह भी पढ़े:उत्तराखंड सेना भर्ती: फर्जी दस्तावेज़ दिखाए तो अफसरों ने यूपी के 50 युवकों को खदेड़ा

यह भी पढ़े:उत्तराखंड की बेटियां हर क्षेत्र में आगे, हल्द्वानी की मेघा बनी भारतीय वायु सेना में अफसर

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now