“यह मेरे कर्मों का फल”, फांसी लगाने से पहले सुसाइड नोट में लिख गई यूपी की महिला दारोगा

हल्द्वानी: समाज को सुरक्षित रखने का काम देश भर की पुलिस करती है। कोरोना काल में भी पुलिस ने अपनी अहम भूमिका निभाई है। मगर क्या पूलिस को पर्याप्त सम्मान मिला? नहीं! पुलिस को कभी भी अच्छी नजरों से नहीं देखा जाता। शायद हम इक्का दुक्का मामलों की वजह से हर पुलिस अफसर के खिलाफ गलत भावना रखते हैं। आज की यह खबर पुलिस से जुड़ी है।

यूपी के बुलंदशहर से आ रही एक खबर ने पुलिसकर्मियों समेत सभी जनों को आश्चर्यचकित किया है। बुलंदशहर में एक महिला दारोगा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। घटना की जानकारी जैसे ही पुलिस को मिली पुलिस घर पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। जानकारी के अनुसार महिला दरोगा ने सुसाइड नोट भी छोड़ा है जिसमें दरोगा ने लिखा है कि यह मेरी करनी का फल है।

यह भी पढ़ें: बंशीधर भगत का विवादित बयान वायरल,सीएम रावत का ट्विट, मैं इंदिरा हृदयेश से माफी मांगूगा

यह भी पढ़ें: शर्मनाक:बंशीधर भगत का इंदिरा हृदयेश को लेकर अपमानजनक बयान,फिर हंसने लगे- वीडियो वायरल

महिला दारोगा आरजू पवार मूल रूप से शामली की रहने वाली हैं। वे 2015 बैच की एसआई हैं। पुलिस द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक बुलंदशहर के अनूप शहर कोतवाली क्षेत्र में सब इंस्पेक्टर दरोगा के पद पर तैनात आरजू पवार ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। महिला दारोगा का शव पंखे से लटका मिला। जब पुलिस मौके पर पहुंची तो पुलिस शव देखकर हैरान रह गई। सूचना के मुताबिक महिला एसआई किराए के कमरे में रहती थी।

मकान मालिक रोज 7:00 बजे दारोगा को खाने के लिए पूछते थे। इस दिन भी महिला से 7:00 बजे ही खाने के लिए पूछा गया तो दारोगा ने कुछ देर तक कमरे के अंदर ना आने की बात कही। लेकिन जब बहुत ज्यादा देर हो गई तब मकान मालिक ने उनके कमरे में जाकर देखा और हक्के बक्के रह गए। मकान मालिक ने महिला दारोगा को पंखे से लटका पाया। इसके बाद सूचना को तुरंत पुलिस तक पहुंचाया गया। मौके पर पहुंची पुलिस भी शव को देखकर हैरान रह गई। जिसके बाद पुलिस आत्महत्या के कारणों का पता लगाने में जुट गई है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड से विदेश पहुंचेंगी खादी, ऑनलाइन बिक्री शुरू, 50 हजार होगी लिमिट

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में मानव तस्करी,कुवैत जाने के लिए बनबसा पहुंचीं पांच युवतियां,पुलिस ने पकड़ा

महिला सब इंस्पेक्टर ने मौके पर एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है। पुलिस ने बताया कि इस सुसाइड नोट में केवल 2 लाइनें लिखी हैं जिसमें साफ-साफ लिखा गया है कि यह मेरे कर्मों का फल है।

इस मामले पर एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पूरे मामले की ढंग से जांच की जाएगी। उन्होंने ही बताया कि कमरे से 2 लाइनों का सुसाइड नोट मिला है। जिसमें महिला दारोगा ने मौत के लिए खुद को ही जिम्मेदार बताया है। लेकिन एसएसपी संतोष कुमार ने कहा कि फिर भी मामले को गंभीरता से जांचा जाएगा और अलग-अलग एंगल से जांच की जाएगी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड BJP विधायक का बयान, सिसोदिया इस लायक नहीं कि उनकी बात का जवाब दिया जाए

यह भी पढ़ें: इंडियन आइडल के मंच पर गूंजा पहाड़ी गाना,फिर सबका दिल जीत गए पवनदीप राजन

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now