देहरादून: टिहरी झील में फ्लोटिंग बोट पर प्रदेश को पर्यटन प्रदेश के रूप को बढावा देने के लिए कैबिनेट बैठक हुई। बैठक में पर्यटन पर खासा जोर दिया गया।

1. इस वर्ष को रोजगार वर्ष के रूप मनाया जायेगा।

2. प्रत्येक जनपद में 13 नये पर्यटक स्थल घोषित- अल्मोड़ा-धार्मिक पर्यटन के रूप में सूर्य मन्दिर। नैनीताल-हिमालय दर्शन के रूप में मुक्तेश्वर मन्दिर। पौड़ी-वाटर स्पोर्ट के रूप में सतपुली, खैरगढ़। चमोली-भराड़ी सैण, गैरसैंण। देहरादून-महाभारत सर्किट, लाखामण्डल। हरिद्वार-पावन शान्ति पीठ। उत्तरकाशी-हैरिटेज रूप में मोरी, हरकी दून। टिहरी-टिहरी झील। रूद्रप्रयाग- चिरबिटिया। ऊधमसिंह नगर-गुलभोज। बागेश्वर-गरूड़ वैली। चम्पावत- देवीधूरा पीठ। पिथौरागढ़-मोस्टमानु ईको टूरिज्म के रूप में।

3. पण्डित दीनदयाल उपाध्याय सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत 50 लाख का फण्ड बनाकर तलाक शुदा/परित्याक्ता/एकल महिला के अतिरिक्त किन्नर को सुरक्ष प्रदान करने के लिए 1 प्रतिशत की दर से 1 लाख का सहकारिता लोन।

4. एस0सी0/एस0टी0/ओ0बी0सी0, आरक्षण गणना 1.5 के ऊपर होने पर संख्या 2 मानी जायेगी।

5. उत्तराखण्ड राज्य अधीन वैयक्तिक सहायक पदोन्नत पदोन्नती नियमावली।

6. अधीनस्थ सेवा सीधी भर्ती वैयक्तिक सेवा नियमावली।

7. भारतीय चिकित्सा परिषद के उत्तराखण्ड में 7 को बढ़ाकर 15 किया गया।

8. मण्डी के माध्यम से फीस छूट को मेथा प्रजाति के पदार्थ को बाहर किया गया। ऐसा दुरूपयोग रोकने के लिए किया गया।

9. वीर चन्द्रसिंह गढ़वाली योजना का दायरा बढ़ाकर इसमें कायाकल्पिंग फ्लोटिंग होटल निर्माण आदि को शामिल किया गया।

10. मेगा इन्वेस्टमेंट इण्डस्ट्री नीति 2015 में संशोधन कर सूची बढाया गया।

11. रूद्रप्रयाग में वेला कोटेश्वर में ज्योतिषपीठाधीश्वर शंकराचार्य जगदगुरू धर्मार्थ चिकित्सालय का संचालन सरकार करेगी।

12. सूक्ष्म, लघु, मध्यम उद्योग क्रय-विक्रय नियमावली में संशोधन पर्यटन को उद्योग का दर्जा देने हेतु संशोधन किया गया।

13. एक बिन्दु को चुनाव आचार सहित के कारण घोषित नही किया गया।