पूनम पांडे हत्याकांड: लाई डिटेक्टर टेस्ट से पहले पुलिस इन लोगों से करेगी अंतिम पूछताछ

देहरादून: हल्द्वानी स्थित गोरापड़ाव में 27 अगस्त को हुए पूनम पांडे हत्याकांड का पेच खुलने का नाम नहीं ले रहा है। मामले की जांच कर रही SIT समेत कई पुलिस टीमे में हत्याकांड से पर्दा हटाने के लिए देश के कौने-कौने में हत्यारों को खोज रही है। वही घायल बेटी अर्शी पांडे के बदलते बयानों ने पुलिस की परेशानी को कम करने क बजाए बढ़ाया है और केस को रहस्मय बना दिया है। पिछले दिनों में पुलिस ने एक बार फिर अर्शी पांडे से पूछताछ की वेकिन फिर भी उसके बाद कुछ ठोस सुराग नहीं लगे। पुलिस को हत्याकांड का राज परिवार के बीच होने का शक है और इसके वो लाई डिटेक्टर टेस्ट करानी की तैयारी कर रही है।

उत्तराखण्ड के लिए गर्व की बात, क्रिकेट मैच जीत बेटियों ने रचा इतिहास

ये भी सामने आ रहा है कि लाई डिटेक्टिव टेस्ट से पहले पुलिस मामले से जुड़े सभी लोगों से पूछताछ करेगी। बता कि बीते सप्ताह उत्तराखण्ड पुलिस  ADG अशोक कुमार ने मृतका की बेटी से अर्शी से पूछताछ की थी। लेकिन एक बार फिर अर्शी के बयान शक पैदा किया और पुलिस  लाई डिटेक्टर टेस्ट करानी की तैयारी कर रही है।

नशे में धुत पूर्व सांसद का बेटा लेडीज टॉयलेट में घुसा, विरोध किया तो निकाल दी पिस्टल

मामले की जांच के लिए हल्द्वानी पहुंचे अपर पुलिस महानिदेशक लॉ एंड आर्डर अशोक कुमार जानकारी दी कि वो खुद घटना स्थल से लेकर परिवार की बेटी सहित केस से जुड़ने वाले सभी 14 लोगों से पूछताछ कर चुके है। लेकिन किसी का बयान सच्चाई नहीं ला पा रहा है। उन्होंने साफ किया कि मामले की सच्चाई परिवार के बीच में घूम रही है। अब सच्चाई जानने के लिए अंतिम चार गवाहों का लाई डिटेक्टर टेस्ट कराने की योजना बना रही है, ताकि सच्चाई सामने आ सके।  बता दें कि इस मामले का खुलासा करने में पुलिस की 100 अधिक टीमें लगी हुई है लेकिन डेढ महीने से पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा।