नैनीताल: उत्तराखण्ड राज्य की पहचान सादगी के लिए होती है। जैसा यहां का वातावरण होता है वैसे ही यहां के लोग होते है। ये हम नहीं बाहर से आने वाले लोग भी बोलते है कि पहाड़ के लोग ईमानदार और नेक होते है। कई बार सोशल मीडिया पर इस विषय को लेकर वीडियो भी डालते गए है। देवभूमि को उसकी ईमानदारी की पहचान उसके लोगों ने ही दिलाई है। इस पहचान के चलते पहाड़ के लोगों का दूसरे शहरों में भी मान होता है।

काफी कम देखने को मिलता है कि अगर किसी का पर्स खो जाए तो उसे वापस मिलता है। अगर पर्स में पैसे हो तो फिर उसके मिलने का प्रतिशत काफी कम हो जाता है ऐसा अन्य राज्यों में होता होगा लेकिन उत्तराकण्ड में नहीं। ताजा मामला नैनीताल का है। मॉर्निंग वॉक करने निकले दंपत्ति को रोड पर पैसों से भरा बैग मिला। उन्होंने इस बैग के बारे में पुलिस को बताया और उसे सौंप दिया।

खबर के मुताबिक नैनीताल के दंपति राम सिंह रौतेला और डॉ बसंती रौतेला ने  सुबह वॉक पर निकले। इसी दौरान उन्हें एक पर्स मिला जिसमें करीब 15 हजार रुपए थे। उस पर्स में एक महिला का आधार कार्ड भी मिला। उन्होंने बिना देरी करते हुए पर्स को मल्लीताल पुलिस को सौंप दिया। अधिवक्ता राम सिंह रौतेला अपनी धर्मपत्नी डॉ बसंती रौतेला नगर के शेरवानी होटल के निकट रहते है। इस घटना के सामने आने के बाद शहर में दोनों की ईमानदारी की बात हो रही है, वहीं सोशल मीडिया पर भी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।