देहरादून: गेंदबाजी करते हुए आया हार्ट अटैक, पेयजल निगम के सहायक अभियंता की मौत

1046

देहरादून: क्रिकेट एक अनिश्चिताओं का खेल है। कौनसे पल में क्या हो जाए कोई भी नहीं सकता। यह खेल जितना लोगों का मनोरंजन करवाता है उतना ही खतरनाक मैदान में मौजूद खिलाड़ियों के लिए भी है। यह खेल कई दिग्गज क्रिकेटरों की जान भी ले चुका है। क्रिकेट में समय के साथ-साथ बल्लेबाजों और फील्डरों की सुरक्षा के लिए नए-नए उपकरण आते रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद विभिन्न कारणों से मैदान पर चोट लगने के कारण खिलाडियों की मौत हुई है। क्रिकेट के मैदान से एक बुरी खबर सामने आ रही है। इस बार मैदान पर किसी खिलाड़ी ने नहीं बल्कि रविवार के दिन मैत्री मैच खेलने गए  इंजीनियर की मौत हो गई । घटना उत्तराखण्ड की राजधानी देहरादून  (थाना नेहरू कॉलोनी क्षेत्र) के कुआंवाला क्रिकेट ग्राउंड की है।

सुबह मैच के दौरान गेंदबाजी करते हुए पेयजल निगम के सहायक अभियंता राजवीर सिंह अचानक गिर गए और बेहोश हो गए। उसके बाद उन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया लेकिन तब तक उनकी मौत हो गई थी। डॉक्टरों ने हार्टअटैक बताया मौत का कारण।

इन खिलाड़ियों की क्रिकेट के मैदान पर हुई है मौत

  • फिलिप ह्यूज़ (ऑस्ट्रेलिया ) : ऑस्ट्रेलिया के इस बल्लेबाज़ को शॉन एबट की बॉल सर पे लगने से चोट लगी, यह मैच साउथ ऑस्ट्रेलिया और न्यू साउथ वेल्स के बीच खेला जा रहा था। बॉल लागने से उनके सर की हड्डी टूट गई और इससे उनके दिमाग में काफी खून का बहाव हुआ। उनको इसके बाद सिडनी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। कुछ दिन हॉस्पिटल में रहने के बाद उनकी मौत हो गई। उनकी मौत से क्रिकेट जगत को एक बड़ा झटका लगा।

  • रमन लांबा (भारत) : भारत के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी रमन लांबा को बांग्लादेश में क्लब क्रिकेट के दौरान फील्डिंग करते वक्त चोट लगी थी। वे ढाका में हुए मैच में फॉरवर्ड शॉर्ट लेग पर फील्डिंग करते समय चोटिल हुई थे। वे तीन दिनों तक कोमा में रहे, और उसके बाद उनकी मृत्यु हो गई। लांबा की उम्र उस समय 38 साल थी।
  • जुल्फिकार भट्टी (पाकिस्तान) : जुल्फिकार को 2013 में एक घरेलू मैच के दौरान बल्लेबाजी करते हुए गए सीने पर लगी और वह गिर गए। खिलाड़ी को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।