इंसानियत हुई शर्मसार,नाबालिग के साथ गैंगरेप से सहमा उत्तराखण्ड

1376

हल्द्वानी:  राज्य में लड़कियों के प्रति नकारात्मक घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही है। शांत वातावरण के लिए पूरे भारत में चर्चा में रहने वाला उत्तराखण्ड की छवि एक बार फिर धूमिल हुई है। इंसानियत को फिर शर्मसार होना पड़ा है। सितारगंज के एक गांव में नाबालिग के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि दो युवकों ने मिलकर 16 साल की किशोरी के साथ सामूहिक बलात्कार किया। शिकायत के बाद पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है। एक आरोपी नाबालिग बताया जा रहा है। पुलिस ने पीडित को मेडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया है।खबर के अनुसार किशोरी के पिता ने कोतवाली में इस घटना के बारे में बताया। किशोरी के परिवार ने अपने घर में गुजर बसर के लिए मवेशी पाल रखे हैं। घर पर मवेशियों के लिए चारा काटने की मशीन नहीं है। पिता ने पुलिस को बताया कि उनकी दोनों बेटियां पास में रहने वाले व्यक्ति के घर से चारा काटकर लाती हैं। आने-जाने वाला रास्ता बहुत संकरा है।

पीडित के पिता ने पुलिस को बताया कि घटना 21 अक्टूबर की है। दोनों रोज की तरह चारा काटकर ला रही थीं। तभी संकरी गली से सटे घर से आये युवक ने बड़ी लड़की को मुंह बंद कर भीतर खींच लिया। आरोप है कि उसे चाकू दिखाकर जान से मारने की धमकी दी और फिर नाबालिग व एक अन्य युवक के साथ मिलकर सामूहिक दुष्कर्म किया। किशोरी किसी तरह उनके चंगुल से छूटी। वह काफी डरी थी। इस घटना के बारे में 27 अक्टूबर को परिजनों को बताया। पीडित ने एक नाबालिग को पहचान लिया है लेकिन दूसरे के मुंह पर कपड़ा बंधा होने की बात कहकर उसे पहचानने से इंकार किया।

पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 376, 323, 504 व 3/4 पास्को एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया हैं। पीड़ित को मेडिकल के लिए भेजा गया है। मामले की जांच कर रही एसआई बबिता गोस्वामी ने बताया कि आरोपियों की तलाश की जा रही हैं।