क्या नियत साफ है या फिर कोई मतलब खास है…पेट्रोल पर पांच रुपए माफ है…

हल्द्वानी: पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर सरकार ने ब्रेक लगाया है। सरकार ने जनता को कुछ राहत दी है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को पेट्रोल और डीजल पर 1.50 रुपये एक्साइज ड्यूटी घटाने की घोषणा कर दी। इसके अलावा ऑइल मार्केटिंग कंपनियां (ओएमसी) ने भी तेल की कीमतों से एक रुपया कम करने का फैसला किया है। इन दोनों घोषणाओं के बाद देश में पेट्रोल और डीजल 2.50 रुपए सस्ता हो जाएगा।

सरकार अपने इस आदेश को देश में आज से तत्काल प्रभाव से लागू करने की घोषणा की है। जेटली ने कहा, ‘आज बैठक में हमने तय किया कि एक्साइज ड्यूटी 1.5 रुपये घटाया जाएगा। इसके अलावा ऑइल मार्केटिंग कंपनियां एक रुपया घटाएंगी। केंद्र सरकार की तरफ से हम ढाई रुपये प्रति लीटर तुरंत उपभोक्ताओं को राहत देंगे।’ वित्त मंत्री ने राज्यों से भी इतनी ही कटौती करने की गुजारिश की है ताकि ग्राहकों को 5 रुपये की राहत मिले।

उत्तराखण्ड भी भारत के उन राज्यों में है जहां पर पेट्रोल और डीजल के दाम 5 रुपए कम किए जाएंगे। इस फैसले से राज्य सरकार को पेट्रोल में ₹100 करोड़ और डीजल में ₹225 करोड़ यानी कुल 325 करोड़ रुपए के राजस्व का नुकसान उठाना पड़ेगा। लेकिन आम जनता के हित को ध्यान मे रखते हुए सरकार ने ये फैसला लिया है। ये फैसला आज आधी रात से मान्य होगा।उत्तराखंड में प्रतिवर्ष 40 करोड़ लीटर पेट्रोल और 90 करोड़ लीटर डीजल की खपत होती है। कीमतें कम होने से यातायात व परिवहन थोड़ा सस्ता होगा। सीएम ने कहा कि केंद्र ने पेट्रोल और डीजल के दामों में कमी करने का सराहनीय कदम उठाया है।

वित्त मंत्री ने अपने इस आदेश को देश में आज से तत्काल प्रभाव से लागू करने की घोषणा की है। माना जा रहा है कि चुनाव आयोग अगले सप्ताह तक तीन राज्यों में होने वाले चुनावों की तारीख की घोषणा कर सकता है। आचार सहिंता लागू होने से पहले केंद्र सरकार ने तेल पर एक्साइज ड्यूटी कम करके जनता को एक अच्छा संदेश देने की कोशिश की है।