गुरुग्राम में गूंजी DPS लामाचौड़ की कामयाबी, टाॅप CBSE स्कूल अवॉर्ड से सम्मानित

729

हल्द्वानी: डी.पी.एस.लामाचौड़ शहर में अपनी अलग पहचान बनाते हुए आगे बढ़ रहा है। काफी कम समय में स्कूल ने अपनी गुणवत्तापूर्ण,व्यावहारिक एवं मूल्यपरक शिक्षा से शहर में स्वच्छ छवि बनाई है। अब एक और कामयाबी स्कूल के खाते में जुड़ गई है। डी.पी.एस.लामाचौड़ को टाॅप सी.बी.एस.सी. स्कूल उत्तराखण्ड 2018 से सम्मानित किया गया। यह सम्मान विद्यालय को नवाचार शिक्षण (इनोवेटिव टीचिंग) के क्षेत्र में नाॅर्थ जोन स्कूल सर्वे के दौरान, एजुकेशन टुडे संस्था द्वारा प्रदान किया गया है। यह सम्मान गुरुग्राम में एक भव्य समारोह के साथ देश के नाॅर्थ जोन स्थित लगभग 600 विद्यालयों में से चयन कर, अनेक शिक्षाविदों के सम्मुख विद्यालय को प्रदान किया।

डी.पी.एस. विद्यालय का उद्देश्य विद्यार्थियों में शारीरिक एवं मानसिक स्वस्थता प्रदान करना है। इसी उद्देश्य की पूर्ति स्वरूप विद्यालय में 3500 से अधिक वृक्ष पर्यावरण को हरियाली, शुद्धता एवं स्वच्छता प्रदान करते हैं। शैक्षणिक गतिविधियों के साथ ही पाठ्य सहगामी क्रियाकलापों में शत-प्रतिषत सहभागिता भी मुख्य है। इससे पूर्व भी विद्यालय को उत्कृष्ठ शैक्षणिक सेवाओं के क्षेत्र में टी.वी.100 द्वारा सर्वोत्कृष्ट पुरस्कार एवं कुमाऊँ रत्न से भी सम्मानित किया जा चुका है।
फलस्वरूप विद्यालय ने मात्र तीन वर्षों में अपनी प्रारम्भिक संख्या 230 को बढ़ाते हुए 1237 तक का सफर जारी रखा है। विद्यालय ने वर्ष 2018-19 की कक्षाओं की निर्धारित संख्या को भी पूर्ण कर लिया है।

विद्यालय प्रबंधन विद्यालय की समस्त उपलब्धियों के लिए सदैव शिक्षकों अभिभावकों एवं विद्यार्थियों के प्रति आभार प्रकट करता है, जिनके परिश्रमशील सहयोग एवं सहभागिता से विद्यालय उत्तरोत्तर वृद्धि करता जा रहा है। विद्यालय प्रबन्धन ने इस उपलब्धि का श्रेय शिक्षकों, अभिभावकों एवं विद्यार्थियों की सहभागिता एवं सहयोग को दिया है।