धर्मनगरी हरिद्वार के दर्शन होंगे सुगम, जल्द शुरू होगा भारत के पहले पॉड कार प्रोजेक्ट का काम

हल्द्वानी: प्रदेश में एक और स्मार्ट सुविधा का आगमन होने जा रहा है। उत्तराखंड मेट्रो रेल कारपोरेशन (यूकेएमआरसी) ने देश की पहली पर्सनल रैपिड ट्रांजिट(पीआरटी) यानी पॉड कार के लिए टेंडर निकाल दिया है। बता दें कि इस परियोजना में कुल 1200 करोड़ का खर्चा होना है। बहरहाल इस कार से पूरे हरिद्वार के दर्शन किए जा सकेंगे। जानकारी के अनुसार इस योजना को 2024 तक पूरा होना है। बड़ी बात यह है कि एक साल के अंदर अंदर, कम से कम डेढ़ किलोमीटर का ट्रैक तैयार करना होगा। जिसका रूट तय कर दिया गया है। इसके लिए 21 स्टेशन बनाए जाएंगे।

यूकेएमआरसी का मकसद है कि मार्च या अप्रैल से काम शुरू हो जाए। वैसे अगर बात करें कि पॉड कार है क्या। तो आपको बता दें कि यह एक छोटी कार है। जो कि चार से छह सवारियों को बैठा सकती है। दुनिया में सबसे पुराना और सबसे बड़ा पीआरटी वेस्ट वर्जिनिया के मोर्गनटाउन में है। यह 1975 से संचालित हो रहा है। मसदर सिटी, संयुक्त अरब अमीरात और 2011 के बाद लंदन हीथ्रो हवाई अड्डे पर पीआरटी सिस्टम शुरू हुआ था। अब भारत में इसके लिए एलिवेटेड रूट तैयार किया जाएगा। यह प्वाइंट टू प्वाइंट परिवहन के लिए जाना जाता है।

यह भी पढ़ें: बागेश्वर:ग्राम प्रधान के भाई की चमोली आपदा में मौत,इंजीनियर के पद पर थे दीपक कुमार

यह भी पढ़ें:हल्द्वानी कोतवाली बन गई बुद्ध पार्क, कल विरोध में हुआ धरना तो आज समर्थन में…

यह पॉड कार सीतापुर से भारत माता मंदिर तक 14 किलोमीटर, सिटी हॉस्पिटल से दक्ष मंदिर तक तीन किलोमीटर, गणेशपुरम से डीएवी स्कूल तक दो किलोमीटर और साथ ही वाल्मीकि चौक से ललताराव ब्रिज तक 0.65 किलोमीटर सफर करेगी। अगर रूट की बात करें, तो यह कार सीतापुर से शुरू होगी। जहां से यह ज्वालापुर, आर्यनगर होते हुए शांतिकुंज और इसके बाद भारत माता मंदिर तक जाएगी।इसके अलावा सीतापुर से शुरू होकर बीच में सिटी हॉस्पिटल से कनखल चौक होते हुए दक्ष मंदिर और गणेशपुरम से डीएवी स्कूल तक संचालित की जाएगी। 

देश की पहली पॉड कार के लिए हरिद्वार में 21 स्टेशन बनाए जाने हैं। जिसमें एक-एक स्टेशन ज्वालापुर, आर्यनगर, रामनगर, सिटी हॉस्पिटल, ऋषिकुल, हरिद्वार रेलवे स्टेशन, ललिताराव ब्रिज, बाल्मिकी चौक, मनसादेवी रोपवे गेट, हर की पौड़ी, खड़खड़ी, मोतीचूर, शांतिकुंज, भारत माता मंदिर पर स्टेशन होगा। दूसरी ओर, कनखल चौक, कनखल, गणेशपुरम, दक्ष मंदिर, जगजीतपुर और डीएवी स्कूल पर बनाया जाएगा। 

उत्तराखंड मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के एमडी जितेंद्र त्यागी ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हरिद्वार दर्शन के नाम से पीआरटी को शुरू करने की कवायद तेज हो गई है। टेंडर भी निकाले जा चुके हैं। इस परिवहन माध्यम से पूरे हरिद्वार के मुख्य स्थलों के दर्शन किए जा सकेंगे। प्री बिड मीटिंग में तमाम कंपनियों ने निर्माण में दिलचस्पी दिखाई है।

यह भी पढ़ें: धन्यवाद BSNL,आपकी वजह से बच पाई सुरंग में फंसे 12 लोगों की जिंदगी

यह भी पढ़ें:चमोली आपदा:उत्तराखंड पुलिस ने खोया साथी,राजकीय सम्मान के साथ विदा हुए हेड कांस्टेबल मनोज चौधरी

यह भी पढ़ें: चमोली अपडेट: एक कॉन्स्टेबल और ASI का शव बरामद, मृतकों की कुल संख्या हुई 34

यह भी पढ़ें:उत्तराखंड क्रिकेट ब्रेकिंग:हेड कोच वसीम जाफर ने एसोसिएशन को भेजा इस्तीफा

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now