फ्लोटिंग सोलर पॉवर प्लांट की स्थापना हेतु सेकी और सिंचाई विभाग ने एम.ओ.यू. पर हस्ताक्षर किए

देहरादूनः मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की उपस्थिति में शुक्रवार को सचिवालय में उत्तराखण्ड में सिंचाई विभाग के स्वामित्व वाले जनपद उधम सिंह नगर की हरिपुरा एवं तुमरिया जलाशयों मे 200 मेगावाट क्षमता के फ्लोटिंग सोलर पॉवर प्लांट की स्थापना हेतु सोलर एनर्जी कारपोरेशन ऑफ इण्डिया (सेकी), नई दिल्ली व सिंचाई विभाग, उत्तराखण्ड एवं उरेडा के मध्य एम0ओ0यू0 पर हस्ताक्षर किये गये।एमओयू पर सेकी की ओर से प्रबन्ध निदेशक जे0एन0स्वान तथा सिंचाई विभाग की ओर से ए0के0दिनकर तथा उरेड़ा की ओर से मुख्य परियोजना अधिकारी ए0के0त्यागी द्वारा हस्ताक्षर किये गये। इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि उत्तराखण्ड इनवेस्टर समिट के दौरान फ्लोटिंग सोलर पॉवर प्लांट की स्थापना राज्य के विभिन्न जलाशयों पर कराये जाने के संबंध में निजी कम्पनियों को आमंत्रित किया गया था।

उक्त के क्रम में प्रथम चरण में सेकी द्वारा अपने संसाधनों से रु1000 करोड का निवेश कर इन जलाशयों पर फ्लोटिंग सोलर पॉवर प्लांट की स्थापना हेतु पहल की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह देश का प्रथम सबसे बड़ा फ्लोटिंग सोलर पॉवर प्लांट होगा तथा इसे 18 माह में सेकी द्वारा पूर्ण कराने का आश्वासन दिया है। इसकी लागत रु1000 करोड़ है। इससे 30 करोड़ यूनिट प्रति वर्ष का उत्पादन होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे राज्य की बिजली जरूरते पूरी होने के साथ ही निवेश के संसाधन भी बढ़ेगे।