पिथौरागढ़ के लाल को मिलेगा वीरता सम्मान, मोहित ने जान की परवाह किए बना दबोचा था गुलदार

हल्द्वानी: प्रदेश के लिए खेल, कला एवं पढ़ाई के क्षेत्र से काफी खुशखबरी आते रही हैं। मगर इस बार उत्तराखंड के दो युवाओं ने अपनी वीरता से भी देशभर के लोगों का ध्यान आकर्षित किया है। रामनगर के सनी कश्यप और पिथौरागढ़ के मोहित उप्रेती को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार दिया जाएगा। मोहित उप्रेती की कहानी बहादुरी से भरपूर है। पांच साल पहले मोहित ने अपने स्कूल में घुसे गुलदार को दबोचा था। जिसकी वजह से कई लोगों की जान बच सकी थी।

पिथौरागढ़ निवासी मोहित उप्रेती ने पांच साल पहले अपनी जान को जोखिम में डालकर गुलदार को कब्ज़े में किया था। तब मोहित पांचवीं कक्षा में पढ़ते थे। हुआ यह कि साल 2016 में नगर के देवपुरी खड़कोट वार्ड में एक सप्ताह से लगातार गुलदार नजर आ रहे थे। चार शावकों के साथ गुलदार दिखने से लोग भी काफी भय के माहौल में जीवन काट रहे थे। तभी एक दिन 15 फरवरी को सुबह करीब 10 बजे गुलदार घनी बस्ती के मध्य स्थित सरस्वती बालिका विद्या मंदिर इंटर कालेज में आ पहुंचा।

हालांकि उस दिन स्कूल में अवकाश था। मगर मोहित और उसका दोस्त हेमंत स्कूल के मैदान में खेल रहे थे। स्कूल के पास की सड़क से आम लोगों की भी आवाजाही होती थी। अब मोहित और हेमंत का गुलदार से सामना हो गया। जैसे ही गुलदार हेमंत पर झपटने को हुआ, मोहित ने जूट की चटाई गुलदार पर डालकर उसे दबोच लिया। धरपकड़ में मोहित के पैर को भी गुलदार ने ज़ख्मी कर दिया था।

सूचना मिलते ही कांग्रेस नेता खीमराज जोशी ने तुरंत वन विभाग को जानकारी दी। जिसके बाद रेंजर डीसी जोशी के नेतृत्व में वन विभाग की टीम स्कूल आ पहंची। जहां वन विभाग की टीम ने गुलदार को पिंजड़े में डाल कर कैद कर लिया। बता दें कि लगभग आधे घंटे से भी ज्यादा समय तक मोहित ने गुलदार को अपनी गिरफ्त में दबोच कर रखा। सभी ने मोहित के अदम्‍य साहस की सराहना की। वह गुलदार न पकड़ता तो और भी लोग उसके शिकार बनते।

मोहित उप्रेती मूल रूप से न्यू सेरा (पिथौरागढ़) का निवासी है। पांच साल पहले घटी इस घटना के लिए उत्तराखंड राज्य बाल कल्याण परिषद ने भारतीय बाल कल्याण परिषद को मोहित का नाम भेजा था। जिसके बाद अब मोहित को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार का हकदार चुना गया है। उत्तराखंड राज्य बाल कल्याण परिषद की महासचिव पुष्पा मानस ने इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश के लिए यह गर्व की बात है। हर साल उत्तराखंड के बच्चे अपने साहस के बूते नाम रौशन कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़,कॉर्ल के साथ ग्राहक बनकर पहुंचा नेता भी गिरफ्तार

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:1 मार्च से खुलेंगे सभी कॉलेज,कुलपतियों, उच्च शिक्षा निदेशक और जिलाधिकारियों को आदेश जारी

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में फौजी की संदिग्ध मौत, पिता ने कहा बहु ने पिलाया जहर, मामला दर्ज

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी में युवती ने ऑर्डर किया पिज्जा, मोबाइल पर आया 60 हज़ार रुपए कटने का मैसेज

यह भी पढ़ें: नैनीताल: स्कूल गई दो बहनों ने किया सुसाइड, खेत में मिला शव

यह भी पढ़ें: दिल्ली में पहुंचे सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, गैरसैंण की जरूरत के लिए फिर उठाई मांग

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी में पूर्व छात्र महासंघ उपाध्यक्ष सुंदर आर्य ने की आत्महत्या, प्रेमिका के घर पर खाया जहर

यह भी पढ़ें: विजय हजारे में जारी है उत्तराखंड का विजयरथ, मणिपुर के खिलाफ जीत में चमके मयंक और जयबिष्टा

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड पुलिस बनी टीचर, इंटर कॉलेज में पढ़ाई फिजिक्स और मैथ्स

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी:डिग्री कॉलेज प्रैक्टिकल देने गई छात्रा वापस नहीं लौटी घर, परिजन पहुंचे कोतवाली

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now