बहानेबाज़ कर्मचारियों को सबक सिखाने के लिए तैयार उत्तराखंड रोडवेज, तबादले का प्लान जारी

हल्द्वानी: कंगाली में आटा गीला होना क्या होता है, यह इस वक्त उत्तराखंड रोडवेज को देखकर समझ आता है। रोडवेज को पहले ही इतना घाटा हो रखा है कि वेतन देने तक के लाले पड़े हैं। और ऐसे में कर्मचारी-अधिकारी अब भी लापरवाही के भूत को अपने सिर पर से उतार नहीं रहे। अब यूं तो नुकसान होना लाजमी है।

मगर अब मुख्यालय ने इस लापरवाही के भूत को भगाने के लिए बढ़िया इंतजाम करने का मन बना लिया है। बकायदा आदेश तक जारी कर दिए गए हैं। जिसमें कहा गया है कि ऐसे कर्मचारियों की लिस्ट बनाई जाए जो ड्यूटी पर किसी भी तरह की लापरवाही बरतते हैं। देर से आते हैं, जल्दी चले जाते हैं या किसी भी अन्य लापरवाही को अंजाम दे रहे हैं। ऐसे कर्मचारियों का तबादला होगा।

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी बेस हॉस्पिटल:इलाज के बाद 5 साल की बच्ची की मौत, डॉक्टरों ने पेट दर्द का लगाया था इंजेक्शन

यह भी पढ़ें: खेलेगा इंडिया तभी तो आगे बढ़ेगा इंडिया मुहिम को आगे बढ़ाता वैंडी स्कूल

अब तबादला सुनने में ऐसा लग रहा होगा जैसे तबादला भी भला क्या सज़ा हुई। मगर नहीं, मुख्यालय का मानना है कि लापरवाही बरतने वाले इन कर्मचारियों को दुर्गम डिपो में भेजा जाए। इस आदेश की भनक कर्मचारियों के कानों में पड़ते ही, सभी के बीच हड़कंप मच गया है।

अब हुआ यह कि काफी समय से मुख्यालय को शिकायतें मिल रही थी। शिकायतें यह कि कर्मचारी व अधिकारी जिस डिपो में तैनात है, उससे काफी दूर रहते हैं। जो कि विभाग के नियमों का उल्लंघन है। इस वजह से वह ना तो समय पर ड्यूटी पर पहुंचते हैं और ना ही पूरे समय तक काम करते हैं। इसका असर कामकाज पर बुरी तरह से पड़ता है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड की लक्की राणा ने यूरोप में जीता पदक, पिता हल्द्वानी में चलाते हैं बस

यह भी पढ़ें: हरिद्वार कुंभ के चलते हल्द्वानी ट्रैफिक पुलिस पर बढ़ेगा भार, SSP को लिखा पत्र

इन्हीं सब मुद्दों को लेकर अब रोडवेज मुख्यालय स्तर से आदेश जारी हुआ है कि डिपोवार शिफ्ट के हिसाब से स्टाफ की मॉनीटरिंग की जाएगी। अगर फिर भी कोई कर्मी लापरवाही बरतता है। जैसे समय से नहीं आता-जाता, बगैर बताए अवकाश पर रहता है तो उसकी रिपोर्ट डिपो के अलावा मुख्यालय को भी देनी होगी। ताकि स्थानीय स्तर पर कोई भी उसे बचाने का प्रयास ना कर सके। इसके बाद उसकी पोस्टिंग दुर्गम क्षेत्रों में की जाएगी।

हल्द्वानी के एआरएम सुरेंद्र बिष्ट ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मुख्यालय के आदेशों का पूरी तरह से पालन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को गंभीरता से ड्यूटी करने के निर्देश दिए गए हैं। लिहाजा कंगाली में इन कर्मचारियों की वजह से गीले हो रहे आटो को सुखाने के लिए मुख्यालय का यह कदम कारगर साबित हो सकता है।

यह भी पढ़ें: सीएम त्रिवेंद्र ने हल की हल्द्वानी गौजाजाली स्कूल की परेशानी, बच्चों को पढ़ाई के लिए मिल गई छत

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी:अधिभार राशि में मिल रही है शत प्रतिशत छूट,18 मई तक जमा करें अपना बिजली का बिल

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now