उत्तराखंड:जखेड़ गांव के रॉबिन बिष्ट बनें सिक्किम क्रिकेट टीम के कप्तान

देहरादून: नया साल आ गया है। इसी के साथ 10 जनवरी से घरेलू क्रिकेट सीजन का आगाज भी हो रहा है। कोरोना वायरस के चलते साल 2020-2021 सीजन करीब 6 महीने देरी से शुरू हो रहा है। उत्तराखंड क्रिकेट टीम भी वडोदरा पहुंच गई है और 10 जनवरी को अपने अभियान का आगाज मेजबान के खिलाफ करेगी। बता दें कि इस साल सबसे पहले सैयद मुश्ताक अली टी-20 ट्रॉफी का आयोजन हो रहा है। उत्तराखंड के फैंस को लंबे वक्त से अपनी टीम के मैदान पर उतरने का इंतजार था। इसके अलावा राज्य के कुछ ऐसे खिलाड़ी भी हैं जो दूसरे राज्यों से खेलते हैं और उनके लिए भी फैंस शुभकामनाएं दे रहे हैं।

दिल्ली और उत्तर प्रदेश के बाद राज्य के लिए सिक्किम से अच्छी खबर सामने आ रही है। पौड़ी जिले के श्रीनगर के जखेड़ गांव के रहने वाले रॉबिन बिष्ट को सिक्किम ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के लिए कप्तान नियुक्त किया है। राज्य के लिए गर्व की बात है कि देवभूमि का बेटा दूसरे राज्य की टीम को लीड करेगा। क्रिकेट में करियर बनाने के लिए रॉ़बिन कई साल पहले बाहर चले गए थे, उस वक्त उत्तराखंड को बीसीसीआई से मान्यता प्राप्त नहीं थी। साल 2018 में उत्तराखंड को बीसीसीआई ने मान्यता दी और तभी से टीम के घरेलू सीजन का अध्याय भी शुरू हुआ।

बात करें पौड़ी जिले के श्रीनगर के जखेड़ गांव के रहने वाले रॉबिन बिष्ट की बात करें तो उन्होंने साल 2007 में अपने घरेलू क्रिकेट करियर का आगाज किया था। वह दिल्ली गए थे लेकिन वहां मौका नहीं मिला तो उन्होंने राजस्थान का रुख किया, इसके बाद उनका चयन राजस्थान की घरेलू टीम में हो गया। रॉबिन घरेलू क्रिकेट में 100 ज्यादा मुकाबले खेल चुके हैं। साल 2011-12 रणजी सीजन में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे। इस सीजन में रॉबिन ने रणजी में आठ मैच खेले, इनमें एक शतक और पांच अर्द्धशतक लगाकर 600 रन बनाए। रॉबिन उत्तराखंड में आयोजित होने वाले गोल्ड कप भी खेल चुके हैं। बता दें कि गोल्ड कप राज्य का विख्यात टूर्नामेंट है और इसमें की ऐसे खिलाड़ी खेल चुके हैं जो आगे चलकर भारतीय टीम का हिस्सा बनें। इसमें सबसे बड़ा नाम महेंद्र सिंह धोनी का नाम शामिल है। सिक्किम ने 20 सदस्यीय टीम का ऐलान किया है। टीम चिन्नई में अपने मुकाबले खेलेगी। पहला मुकाबला 11 जनवरी को मिजोरम के खिलाफ है। रॉबिन बिष्ट के अनुभव को देखते हुए उन्हें टीम का कप्तान बनाया गया है। बता दें कि रॉबिन इंडिया ए टीम के सदस्य भी रह चुके हैं। इसके अलावा वह आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स टीम का भी हिस्सा रहे हैं। चोट के चलते कई बार रॉबिन अहम टूर्नामेंट से बाहर हुए है और इसी के चलते भारतीय टीम में उनका चयन नहीं हुआ। रॉबिन ने पिछले 13 सालों में 185 घरेलू मैच खेले हैं, इस दौरान उनके बल्ले से 8 हजार 504 रन निकले हैं, जिसमें 16 शतक और 42 फिफ्टी भी शामिल है।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now