हल्द्वानी: राज्य क्रिकेट अच्छी दिशा में चल रहा है। टीम ने घरेलू सीज़न में अच्छा खेल दिखाया है। फैंस को उम्मीद दी है कि वो आने वाले दिनों में घरेलू क्रिकेट में पहचान कायम कर सकते है। इसी के बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है। बीसीसीआई व यूसीसीसी ने हरिद्वार सुपर लीग को अनधिकृत करार दिया है। उत्तराखण्ड में क्रिकेट संचलान के लिए बनी उत्तराखण्ड क्रिकेट कनसेंस कमेटी के कॉर्डिनेटर प्रोफेसर रत्नाकर शेट्टी ने मेल जारी कर इस बारे में जानकारी थी।

इस मेल में कहा गया है कि पिछले महीने दिव्य नौटियाल ने यूसीसीसी ने हरिद्वार सुपर लीग कराने की इजाज्त मांगी थी। यूसीसीसी ने टूर्नामेंट के आयोजन से पहले टीम मालिक, ऑगर्ननाइजर व खिलाड़ियों की जानकारी मांगी थी, जो अभी तक प्राप्त नही हुई है। बिना अनुमति के टूर्नामेंट का आयोजन किया गया। यूसीसीसी ने इस टूर्नामेंट को अनधिकृत करार देते हुए हिदायत दी है कि बीसीसीआई व यूसीसीसी में पंजीकृत कोई भी मैच ऑफिसियल और खिलाड़ी इस टूर्नामेंट में भाग ना ले। 

बता दें कि इससे पहले भी देहरादून और हल्द्वानी में बीसीसीआई के नाम पर क्रिकेट टूर्नामेंट आयोजन कराने पर यूसीसीसी ने सख्त रुक अपनाया था। फिलहाल राज्य में बीसीसीआई द्वारा कोई भी लीग का आयोजन नहीं होता है।