ढाका में दिखी उत्तराखंडी प्रतिभा की चमक, जूनियर टीम इंडिया का एशिया कप पर कब्जा

341

हल्द्वानी: सीनियर टीम की राह पर चलते हुए जूनियर टीम इंडिया ने अंडर-19 एशिया कप अपने नाम कर लिया है। फाइनल मुकाबले में जीत उत्तराखण्ड के लिए खास रही। पहाड़ के अनुज रावत और आयुष बडोनी ने शानदार बल्लेबाजी की।  भारतीय टीम ने फाइनल मुकाबले में श्रीलंकाई टीम को 144 रन से हराकर छठी बार अंडर-19 एशिया कप अपने नाम कर लिया। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय अंडर-19 टीम ने 3 विकेट पर 304 रन बनाए। श्रीलंकाई टीम को 38.4 ओवर में 160 रन पर समेट दिया।

ढाका के खेले गए फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। ओपनर यशस्वी जायसवाल (85) और अनुज रावत (57) ने भारतीय टीम को शानदार शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 121 रन की साझेदारी की। अनुज ने 79 गेंदों पर 4 चौके और 3 छक्के जड़े। यशस्वी ने 113 गेंदों की अपनी पारी में 8 चौके और 1 छक्का लगाया। कप्तान सिमरन सिंह ने 37 गेंदों पर 3 चौकों और 4 छक्कों की मदद से 65 रन की नाबाद पारी खेली। आयुष बदोनी ने नाबाद 52 रन का योगदान दिया।

दोनों ने चौथे विकेट के लिए नाबाद 110 रन की साझेदारी की।  लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंका की टीम 160 रन पर ऑल आउट हो गई। श्रीलंकाई टीम के लिए नावोद परनाविथाना ने 48 और ओपनर निशान मदुश्का ने 49 रन बनाए। उनके अलावा सूरियाबंदारा ने 31 रन का योगदान दिया। मैन ऑफ द मैच रहे भारत के युवा गेंदबाज हर्ष त्यागी ने कमाल का प्रदर्शन करते हुए 38 रन देकर 6 विकेट झटके। 18 वर्षीय सिद्धार्थ देसाई ने 2 विकेट अपने नाम किए।

भारत ने अंडर-19 एशिया कप 1989, 2003, 2013-14, 2016 में भी जीता था। इसके अलावा 2012 में उसे पाकिस्तान के साथ इस खिताब को शेयर करना पड़ा था। तब कुआलालंपुर में उन्मुक्त चंद की कप्तानी मे भारतीय टीम और पाकिस्तानी अंडर-19 टीम के बीच खेला गया फाइनल मुकाबला टाई रहा था।