भीमताल खबर: पिता की है चाय की दुकान, इंजीनियर बेटे को मिली विदेश में 1 करोड़ की नौकरी

भीमताल: बेटे की कामयाबी ने पूरे राज्य का नाम रोशन किया है। उसने परिश्रम का ऐसा उदाहरण दिया है जो भविष्य की पीढ़ियों के लिए उदाहरण बन उन्हें प्रेरित करेगा। उसने घर के हालात से ज्यादा अपने परिश्रम पर ध्यान दिया और आज वो जहां पहुंचा है वहां काफी कम लोग ही पहुंच पाते हैं। बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ अप्लाइड साइंसेज भीमताल के बीटेक चतुर्थ वर्ष के छात्र सचिन सनवाल का चयन की बहुराष्ट्रीय कंपनी ऐरोफ्लोट एविएशन के लिए हुआ है।

सचिन को एक करोड़ रुपए का पैकेज मिलेगा। इस बारे में उन्हें कंपनी की ओर से ऑफर लेटर प्राप्त हो गया है। सचिन के पिता मोहन सनवाल चाय की दुकान चलाते हैं। सचिन की कामयाबी के बाद पूरा भीमताल उनके परिवार को बधाई दे रहा है।  बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ अप्लाइड साइंसेज के निदेशक डॉ.बीएस बिष्ट ने बताया कि सचिन मेधावी छात्र है। उसके माता-पिता के संघर्ष और विश्वास से वो यहां तक पहुंचा है।

सचिन ने इस कामयाबी के बारे में बताया कि रोजाना 6 घंटे पढ़ाई करते थे। अंग्रेजी में उनकी पकड़ अच्छी नहीं थी लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और उसे मजबूत करने के लिए काफी मेहनत की। सचिन ने 12वीं तक की पढ़ाई लेक्स इंटरनेशनल स्कूल से की है। सचिन के अनुसार ऑनलाइन आवेदन के बाद उनका ऑनलाइन इंटरव्यू हुआ था। उन्हें जुलाई से अगस्त तक ज्वाइन करने को कहा गया है।  वह अब पासपोर्ट और वीजा बनाने की तैयारी में जुटे हैं।

सचिन के अनुसार उनका चयन ऐरोफ्लोट एविएशन की कास्केड एयरोस्पेस के लिए हुआ है। कंपनी का मुख्यालय 1337 टाउन लाइन रोड अबोटसफोड, बीसी कनाडा में है। सचिन के पिता मोहन सनवाल भीमताल बाजार में छोटा सा रेस्टोरेंट चलाते हैं, जिसमें चाय एवं अन्य सामान बेचते हैं, जबकि मां रेनू सनवाल गृहणी हैं।  उनकी छोटी बहन आकांक्षा ने 12वी की परीक्षा दी है। सचिन के चयन के बाद सोशल मीडिया के माध्यम से उनके परिवार को राज्य के लोग बधाई दे रहे हैं।