देहरादूनः लोकसभा की बात हो और पुराने मुद्दो को उजागर नहीं किया जाये, यह शायद ही हो सकता है। कई पार्टी इन मुद्दो से अपनो को शक्तिशाली बताती है। तो कई पार्टी मुद्दों में खामिया बताती हैं। इन विषयों में एक बार फिर भाजपा ने अपनी ताल ठोकी है। विवादित बयान के बाद भाजपा के मौजूदा सांसद भगत सिंह कोश्यारी ने अब सेना के नाम पर वोट मांगने की चाल आजमाई है।लोकसभा चुनाव को लेकर पूर्व सीएम व सांसद भगत सिंह कोश्यारी पौड़ी गढ़वाल के दौरे पर जनसभा को संबोधित किया।जहां उन्होनें कांग्रेस को खूब कोसा, जिसमें सबसे बड़ा मुद्दा सर्जिकल स्ट्रइक के सबूत मांगने को देखा गया। भगत दा ने कांग्रेस को राष्ट्रविरोधी दल बताते हुए सर्जिकल स्ट्राइक पर वोट जुटाने की रणनीति बनाई। बेहतर यह होता कि भगत दा सरकार के विकास कार्य पर वोट की अपील करते। इस बयान से यह तो साफ हो गया है कि भाजपा के कुछ नेता कांग्रेस की सियासत पर वोट बटोरने की पूर्ण जोर कोशिश कर रहे हैं।इस से पहले भी नैनीताल के मौजूदा सांसद भगत सिंह कोश्यारी ने नैनीताल से कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व सीएम हरीश रावत पर तंज कसते हुए हरीश रावत को एकलुवा बानर कहा था। इस बयान पर खूब विवाद हुआ था। कई लोगों ने भगत दा की उम्र के हिसाब से यह बयान गलत ठहराया था।  इस बयान का जवाब देने में हरीश रावत भी पीछे नहीं रहे और हरीश रावत ने भगत सिंह कोश्यारी को भीगा-घुघुता कहा , जिस तरह भीगा हुआ घुघुता किसी काम का नहीं रहत ठीक इसी तरह भगत दा भी अब किसी काम के नहीं रहे। इसके साथ ही एकलुवा बानर पर जवाब देते हुए कहा कि एकलुवा बानर यानि हुनमान जी ने अकेले ही पूरी लंका जलाकर राख कर दी थी। मैं भी हनुमान जी से शक्ति लेकर भाजपा की लंका जला डालूंगा। भाजपा की लंका को जलने से कोई नहीं बचा सकता।